दहशत फैलाने से पहले 5 लाख ईनामी दो नक्सली कमांडर गिरफ्तार

Balod, Chhattisgarh, India
 दहशत फैलाने से पहले 5 लाख ईनामी दो नक्सली कमांडर गिरफ्तार

घने जंगलों में पुलिस ने एक महिला समेत दो हार्डकोर नक्सली को गिरफ्तार किया है। सराकर ने दोनों पर पांच-पांच लाख रुपए का ईनाम घोषित किया है।

बालोद. हितकसा (बालोद) के घने जंगलों में गुरुवार को पुलिस ने एक महिला समेत दो हार्डकोर नक्सली को गिरफ्तार किया है। सराकर ने दोनों पर पांच-पांच लाख रुपए का ईनाम घोषित किया है। दोनों जंगल में पेड़ के नीचे संदिग्ध रूप से बैठे हुए मिले। पुलिस को देखकर वहां से भागने लगे। पुलिस ने पीछा कर दोनों को धर दबोचा।

एरिया कमेटी का कमांडर होना स्वीकार

नक्सल ऑपरेशन की टीम ने शक के आधार पर उनसे पूछताछ की। पहले तो उन्होंने अपना नाम रामू और सुशीला बताया। उनके हावभाव से पुलिस को शक हुआ। सख्ती से पूछताछ करने पर युवक ने अपना नाम उमेश गावड़े और महिला ने अनिला मरकाम निवासी मोहला (रामगढ़) बताया। उन्होंने एरिया कमेटी का कमांडर होना स्वीकार किया। जिन पर पांच-पांच लाख रुपए का ईनाम घोषित है।

2 साल पल्लेमाड़ी एरिया कमेटी के सदस्य

गुरुवार की शाम पत्रकारवार्ता में आईजी दीपांशु काबरा ने इसका खुलासा करते हुए बताया कि नक्सलियों के खिलाफ सरहदी क्षेत्र में चलाए जा रहे ऑपरेशन के तहत यह सफलता हाथ लगी। बालोद पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार झा के हाथ यह सफलता हासिल हुई। उन्होंने बताया कि उमेश गावड़े 2007 से नक्सली संगठन से जुड़ा है। उसने 2 साल पल्लेमाड़ी एरिया कमेटी के सदस्य के रूप में कार्य किया।

वह पढऩा चाहती थी

उसके बाद उसे वर्ष 2011-12 में मंगलतराई एलओएस का कमाण्डर बनाया गया। 2 वर्ष तक काम करने के बाद संगठन कमजोर होने लगा। जिसकी वजह से मंगलतराई एलओएस भंग कर दिया। अनिला संगंठन के नाट्य मंडली से प्रभावित होकर 2007 में संगठन से जुड़ गई। पूछताछ में बताया कि वह पढऩा चाहती थी घर वाले पढऩे नहीं दिए। जिससे नाराज होकर नक्सली का दामन थाम लिया। 2 माह साथ में घूमने के बाद 12 बोर का बंदूक संगठन से मिला।

चलाया जा रहा नक्सली ऑपरेशन

आईजी ने बताया कि थाना डौण्डी, महामाया, राजहरा, राजनांदगांव जिला के सरहदी क्षेत्र में यह ऑपरेशन चलाया जा रहा है। सूत्रों से जानकारी मिली कि पल्लेमाड़ी थाना खडग़ांव एरिया कमेटी के नक्सली कमाण्डर उमेश व मोहला एरिया कमेटी के कमाण्डर अनिला छिप कर जंगल में रह रहे हैं। इसकी सूचना पर एएसपी ने गुरुवार को नगर पुलिस अधीक्षक राजहरा भारतेन्दु द्विवेदी कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे।

सर्चिंग टीम में ये थे शामिल

निर्देश मिलने पर पुलिस अधीक्षक राजहरा ने एक टीम बनाई । जिसमें थाना राजहरा प्रभारी, परिविक्षाधीन उप पुलिस अधीक्षक ऐश्वर्य , कार्तिक चंद्रवशी, रविशंकर देशलहरे, धर्मगुड़ी, चालक केदारनाथ दिल्लीवार, ईश्वर भण्डारी, बिरबल दर्रो, रमेश यादव समेत कुल 9 सदस्यों को लेकर वे हितकसा के जंगल सर्चिंग करने पहुंचे। संर्चिग के दौरान घने जंगल के अंदर यह दोनों माओवादी मिले।

रायफल व डॉक्टरी साथ-साथ सीखी
अनिला ने औंधी मदनवाडा क्षेत्र में काम किया। वहीं रायफल चलाना व डॉक्टरी का कार्य सीखा। फिर इसे पल्लेवाड़ी एरिया कमेटी में भेज दिया गया। पल्लेमाड़ी में 2013 तक एलओएस सदस्य के रूप में कार्य किया। 2 माह सदस्य के रूप में रहने के बाद मार्च 2013 से मार्च 2016 तक कमाण्डर के तौर पर कार्य करती रही। फिर स्थानांतरण मोहला कमेटी में कर दिया गया। यहां वह इंसास रायफल रखती थी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned