सलाहकार कैंपय्या व खुफिया विभाग के प्रमुख रेड्डी पर बरसे मुख्यमंत्री

Shankar Sharma

Publish: Jul, 17 2017 09:52:00 (IST)

Bangalore, Karnataka, India
सलाहकार कैंपय्या व खुफिया विभाग के प्रमुख रेड्डी पर बरसे मुख्यमंत्री

दक्षिण कन्नड़ जिले में पिछले एक माह से जारी सांप्रदायिक तनाव को टालने के लिए समुचित कदम नहीं उठाने पर मुख्यमंत्री सिद्धरामय्या ने रविवार को गृह विभाग के सलाहकार कैंपय्या

बेंगलूरु. दक्षिण कन्नड़ जिले में पिछले एक माह से जारी सांप्रदायिक तनाव को टालने के लिए समुचित कदम नहीं उठाने पर मुख्यमंत्री सिद्धरामय्या ने रविवार को गृह विभाग के सलाहकार कैंपय्या व राज्य गुप्तचर ब्यूरो के प्रमुख एमएन रेड्डी की जमकर खिंचाई की।

 सूत्रों  के अनुसार अपने गृहनगर मैसूरु के दो दिवसीय प्रवास से रविवार को राजधानी लौटे मुख्यमंत्री ने कैंपय्या व पुलिस महानिदेशक (गुप्तचर) एमएन रेड्डी को उनकी विफलता के लिए आड़े हाथों लिया। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस)  के कार्यकर्ता शरत मडिवाला की हत्या के बाद उपद्रव ग्रस्त दक्षिण कन्नड़ जिले में अब हालात सामान्य हो रहे हैं। पिछले दो दिन से पुलिस महानिदेशक आर. के. दत्ता ने जिले में डेरा डाल रखा है। इस दौरान किसी अप्रिय घटना की खबर नहीं है। रविवार को भी हालात सामान्य रहे।

मैसूरु से लौटते ही सिद्धरामय्या ने दोनों अधिकारियों को अपने निवास कावेरी में तलब किया और खुफिया विभाग की विफलता और शरत मडिवाला की हत्या के बाद जिले में पुलिस के समुचित कार्रवाई नहीं करने के लिए आड़े हाथों लिया। सिद्धरामय्या ने आरएसएस कार्यकर्ता की मौत के बाद उत्पन्न तनावपूर्ण स्थिति को शांत करने के लिए समय पर कदम नहीं उठाने पर दोनों अधिकारियों को जमकर लताड़ लगाई।

इसी घटना के कारण भाजपा व अन्य संगठनों ने सरकार के खिलाफ बड़ी राजनीतिक जंग छेडऩे का मौका मिल गया है। भाजपा का आरोप है कि केरल में दक्षिणपंथी संगठनों के कार्यकर्ताओं पर हमलों व हत्याओं की तर्ज पर अब दक्षिण कन्नड़ जिले में संघ कार्यकर्ताओं पर हमले हो रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि यदि खुफिया पुलिस पहले से कार्रवाई करती तो जिले में गड़बड़ी को टाला जा सकता था। भाजपा को इन हालात का फायदा उठाने का मौका नहीं मिल पाता।

मुख्यमंत्री ने परप्पन अग्राहर केंद्रीय जेल में बंद अन्नाद्रमुक नेता वी.के. शशिकला तथा जाली स्टांप पेपर घोटाले में दोषी अब्दुल करीम तेलगी को विशेष सुविधाएं देने के आरोपों के मामले से निपटने के तरीकों पर भी निराशा जाहिर की। उन्होंने कहा कि जेल के इन मसलों को लेकर राज्य की पुलिस हंसी का पात्र बन गई है और  इस केस में लिप्त सभी के खिलाफ कड़े कदम उठाए जाएंगे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned