नकदी लेकर भागा एटीएम वैन चालक गिरफ्तार

Shankar Sharma

Publish: Nov, 30 2016 12:55:00 (IST)

Bangalore, Karnataka, India
नकदी लेकर भागा एटीएम वैन चालक गिरफ्तार

उप्पारपेट पुलिस ने आखिरकार गत 23 नवंबर को 1.37 करोड़ रुपए लेकर भागे वैन चालक डोमनिक राय को गिरफ्तार किया है, लेकन उसके कब्जे से कोई राशि नहीं मिली

बेंगलूरु. उप्पारपेट पुलिस ने आखिरकार गत 23 नवंबर को 1.37 करोड़ रुपए लेकर भागे वैन चालक डोमनिक राय को गिरफ्तार किया है, लेकन उसके कब्जे से कोई राशि नहीं मिली। सोमवार को उसकी पत्नी एल्विन ने बाणसवाड़ी पुलिस के सामने आत्मसमर्पण किया था और पुलिस ने 79.80 लाख रुपए जब्त किए थे। पुलिस के अनुसार डोमनिक राय को मंगलवार सुबह के.आर. पुरम की टिन फैक्ट्री के पास गिरफ्तार किया गया। वह एक मित्र से भेंट करने के लिए अपना हुलिया बदल कर आया था।

सप्ताह भर में सुलझा मामला
पुलिस की जांच से पता चला है कि आरोपी वैन लेकर फरार होने के बाद वसंत नगर पहुंचा और वहां वैन का लॉक तोड़कर रुपए से भरा एक बाक्स लेकर बाणसवाड़ी गया। वैन को माउंट कार्मल कालेज के पास छोड़ा। वैन में 45 लाख रुपए और एक बन्दूक छोड़ गया। वहां से बाणसवाड़ी की एक मिल के पास गया।

मिल कर्मचारी को बताया कि बॉक्स की चाबी कहीं गुम हो गई है, इसलिए ताला तोडऩे का अनुरोध किया। वहां ताला तुड़वाने के बाद रुपयों को एक बैग में भर कर घर पहुंचा। वहां पहले से ही पत्नी एल्विन तैयार थी। वह पत्नी और पुत्र के साथ शिवाजी नगर स्थित एक होटल गया। वहां में भोजन करते समय टीवी पर डोमनिक की खबरें ही प्रसार हो रही थीं। उसने शौचालय जाकर सिम कार्ड नष्ट कर दिया। बिल का भुगतान करने के बाद पत्नी और पुत्र के साथ शांतिनगर बस स्टैंड पहुंचा। वहां चेन्नई जाने वाली बस में सवार हो गया। वहां से चित्तूर और फिर वेलूर के जरिए चेन्नई पहुंचा। वहां एल्विन की बहन के घर में रहा उसने एल्विन की बहन और बहनोई को सब कुछ बताया।

फिर वहां से कृष्णगिरि गया। फिर कोयम्बटूर गया। बाद में कृष्णगिरि आने के बाद दो दिन चर्च में गुजारे। वहां से केरल के त्रिशूर पहुंचा। फिर विजयवाड़ा गया। वहां मित्र के घर में रहने के बाद फरार होने की योजना बनाई, लेकिन कोई राह दिखाई नहीं देने पर वह निराश हो गया। वह फिर रविवार को बेंगलूरु लौटा। पत्नी को 79.80 लाख रुपए देकर घर भेेजे और एक वकील से संपर्क कर पुलिस को आत्मसमर्पण के लिए पूछा। डोमनिक ने एक निर्माणाधीन इमारत में दो रातें गुजारीं। फिर मंगलवार को मित्र से मिलने के लिए टिन फैक्ट्री के पास आने पर उसे गिरफ्तार कर लिया गया।डोमनिक ने आठ लाख रुपए का ऋण लिया था, जिसका भुगतान कृष्णगिरि और कोयम्बटूर जाकर कर दिया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned