सपा जिला उपाध्यक्ष पर केस दर्ज, पार्टी प्रत्याशी पर लगाया साजिश का आरोप

Mukesh Kumar

Publish: Oct, 19 2016 06:15:00 (IST)

Bareilly, Uttar Pradesh, India
 सपा जिला उपाध्यक्ष पर केस दर्ज, पार्टी प्रत्याशी पर लगाया साजिश का आरोप

मुकदमा दर्ज होने के बाद सपा नेता ने पार्टी के ही एक नेता के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

बरेली। हाल ही में समाजवादी पार्टी के जिला उपाध्यक्ष बने सन्देश कनौजिया और उनके तीन साथियों पर ढाबे में लूटपाट, तोड़फोड़ का मुकदमा दर्ज किया गया है। ढाबा मालिक की शिकायत पर बिथरी चैनपुर थाने में सन्देश के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है। मुकदमा दर्ज होने के बाद सन्देश ने जिलाध्यक्ष वीरपाल सिंह यादव के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। सन्देश का कहना है कि जिलाध्यक्ष ने खुद डीआईजी से मुलाक़ात कर उनके ऊपर मुकदमा दर्ज कराया है, जबकि वीरपाल यादव का कहना है, 'किसी के कहने से क्या होता है मैं मंगलवार को बरेली में था ही नहीं।'

क्या है मामला
बिथरी चैनपुर थाना क्षेत्र में बड़ा बाइपास पर नेताजी ढाबा है। ढाबा मालिक अनिल पटेल ने पुलिस से शिकायत की है कि सपा के जिला उपाध्यक्ष सन्देश कन्नौजिया सोमवार रात अपने तीन साथियों के साथ ढाबे पर आए थे। उन्होंने कुछ खाने पीने को मंगवाया लेकिन रुपयों को लेकर ढाबे के नौकर से कहासुनी हो गयी। आरोप है कि सन्देश कन्नौजिया ने इस दौरान गल्ले में रखे रूपये लूट लिए और ढाबे की कुर्सियां भी तोड़ दी। अनिल पटेल का आरोप है कि इसकी शिकायत उसने पुलिस से की लेकिन पुलिस ने उसकी नहीं सुनी जिसके बाद डीआईजी के आदेश पर मुकदमा दर्ज किया गया।

एक बार फिर गर्म हुई सपा की सियासत  
मुकदमा दर्ज होने के बाद सन्देश कन्नौजिया ने जिलाध्यक्ष वीरपाल सिंह यादव के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। उन्होंने वीरपाल सिंह यादव पर मुकदमा दर्ज कराने का आरोप लगाया। उनका कहना है कि वो मुख्यमंत्री के निर्देश से जिला उपाध्यक्ष बने और विरोधी उनकी लोकप्रियता को पचा नहीं पा रहे हैं। जिसके कारण सपा जिलाध्यक्ष ने खुद डीआईजी के यहां जाकर उनके ऊपर मुकदमा दर्ज करा दिया। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वीरपाल यादव मुख्यमंत्री के फैसले को भी नहीं पचा पा रहे हैं। इससे पार्टी को नुकसान होगा।
वीडियो-


बहुत पुरानी है दोनों में रार
जिलाध्यक्ष वीरपाल सिंह यादव और उपाध्यक्ष सन्देश कन्नौजिया की रार पहले भी देखने को मिली थी जब ब्लाक प्रमुख के चुनाव में बिथरी चैनपुर ब्लाक से सपा प्रत्याशी की हार के बाद सन्देश और एक अन्य सपा नेता की बातचीत का ऑडियो वायरल हुआ था। जिसके बाद सन्देश कन्नौजिया को जिलापाध्यक्ष के पद से हटा दिया गया लेकिन सन्देश एक बार फिर मुख्यमंत्री के आशीर्वाद से जिला उपाध्यक्ष का पद पाने में कामयाब रहे। सन्देश को पद मिलते ही वीरपाल यादव ने जिलाध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे दिया था हालांकि इसका कारण उन्होंने विधानसभा चुनाव में अपनी व्यस्तता को बताया था क्योंकि वो बिथरी चैनपुर विधानसभा सीट से सपा के प्रत्याशी है।
वीडियो-


Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned