प्रियंका चोपड़ा के बयान पर बरेलियंस खफा, बोले- एक्टिंग करें, गाल न बजाएं

Mukesh Kumar

Publish: Oct, 18 2016 08:12:00 (IST)

Bareilly, Uttar Pradesh, India
प्रियंका चोपड़ा के बयान पर बरेलियंस खफा, बोले- एक्टिंग करें, गाल न बजाएं

कल तक जो लोग प्रियंका को सिर आंखों पर बैठाते थे वहीं लोग आज बुराई करते नहीं थक रहे। 

बरेली। बॉलीवुड ही नहीं हॉलीवुड में भी अपनी अदाकारी का जलवा बिखेरने वाली बरेली की प्रियंका चोपड़ा से उनके शहर के लोग ही खासे नाराज हैं। कल तक जो लोग प्रियंका को सिर आंखों पर बैठाते थे वहीं लोग अब पाकिस्तान के कलाकारों के समर्थन वाले प्रियंका चोपड़ा के बयान के बाद नाराजगी जाहिर कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर भी प्रियंका के खिलाफ गुस्सा देखने को मिल रहा है। बता दें कि प्रियंका ने एक टीवी चैनल पर कहा कि देश में हर प्रमुख राजनीतिक एजेंडे में सबसे पहले कलाकारों और अभिनेताओं को घसीट लिया जाता है। ये सब हम लोगों के साथ ही क्यों होता है?


डॉक्टर अतुल अग्रवाल
'प्रियंका को ये बयान शोभा नहीं देता'
वरिष्ठ बाल रोग विशेषज्ञ डॉक्टर अतुल अग्रवाल ने फेसबुक पर प्रियंका के खिलाफ पोस्ट कर अपने गुस्से का इजहार किया। डाक्टर अतुल का कहना है कि प्रियंका चोपड़ा के पिता कर्नल डॉक्टर अशोक चोपड़ा उनके बहुत अच्छे दोस्त थे और उनका अस्पताल भी हमारे अस्पताल के पास था। एक फौजी की बेटी होने के नाते प्रियंका चोपड़ा को ये बयान शोभा नहीं देता है। प्रियंका के पिता बहुत अच्छे गायक भी थे जो कि भजन और सूफी नाती कव्वाली भी गाते थे लेकिन इतना अच्छा गायक होने के बाद भी उन्हें तो पाकिस्तान में कभी सम्मान नहीं मिला। इसके साथ ही डॉक्टर अतुल ने कहा कि देश होगा तो कला बचेगी।

atul agrawal
प्रोफेसर डॉक्टर निवेदिता श्रीवास्तव
'देश से बड़ा नहीं कलाकार'
बीजेपी नेता और रुहेलखंड विश्वविद्यालय की प्रोफेसर डॉक्टर निवेदिता श्रीवास्तव ने कहा कि फिल्म या कलाकार देश से बड़ा नहीं होता। अगर देश पर आतंकी हमला होता है तो ये जरूरी नहीं कि कलाकार और उसका घर बचे। समय को देखते हुए सभी को उसी प्रकार सोचना चाहिए जैसा देश के नीति निर्धारक सोच रहे है। भारत के विरोध के बाद ही पड़ोसी देशों ने भी पाकिस्तान में होने वाले सम्मेलन में ना जाने का फैसला लिया। तो फिर पाकिस्तानी कलाकारों को जबरदस्ती घुसाने की क्या जरूरत पड़ी है। देश के प्रधानमंत्री जो कर रहे हैं इससे फिल्म इंडस्ट्री की भी सुरक्षा होगी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि क्या हम इतने मोहताज है कि पाकिस्तान के कलाकारों के बगैर फिल्म नहीं बन सकती।

'अच्छी एक्टिंग करें न कि गाल बजाएं'
बरेली के प्रसिद्ध डॉक्टर और समाजसेवी प्रमेंद्र महेश्वरी ने प्रियंका चोपड़ा के बयान को शर्मनाक बताते हुआ कहा कि बरेली की और विशेषकर एक डॉक्टर परिवार की बेटी होने के कारण प्रियंका के इस बयान से मैं बेहद आहत हूं। शहर का समस्त युवा वर्ग जो अपने देश से प्रेम करता है प्रियंका को कभी माफ नहीं करेगा उसे ये कभी नहीं भूलना चाहिए कि सिर्फ और सिर्फ भारतीयों के प्यार ने उसे दुनिया भर में लोकप्रिय बनाया है न कि पाकिस्तानियों ने। फिल्म एक्ट्रेस होने के नाते अच्छी एक्टिंग करें न कि गाल बजाए।

प्रियंका के बयान का समर्थन

वहीं समाजसेवी रजी गुप्ता प्रियंका चोपड़ा से सहमत है। उनका कहना है कि कलाकारों को प्रतिबंधित करने का क्या मतलब है अगर बैन लगाना है तो पाकिस्तान से इम्पोर्ट होने वाली हर चीज पर बेन लगना चाहिए।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned