इस सीट पर अब तक सिर्फ एक एक बार जीती सपा-बसपा

Bareilly, Uttar Pradesh, India
इस सीट पर अब तक सिर्फ एक एक बार जीती सपा-बसपा

आंवला विधानसभा सीट को बीजेपी का गढ़ माना जाता है।

बरेली। जिले की नौ विधानसभा सीटों में से एक सीट है आंवला। बरेली-बदायूं-रामपुर बॉर्डर पर स्थित ये विधानसभा आंवला लोकसभा क्षेत्र का हिस्सा है। बीजेपी का गढ़ मानी जाने वाली इस सीट पर सपा और बसपा सिर्फ एक बार ही जीत दर्ज कर पाई। बाबरी मस्जिद गिराए जाने के बाद बदले राजनीतिक माहौल में सपा ने यहां 1993 में जीत दर्ज की थी। सपा के टिकट पर महिपाल सिंह यादव विधायक बनें। जिसके बाद इस सीट पर साइकिल कभी नहीं चली। वहीं 2007 में बसपा ने सोशल इंजीनियरिंग के दम पर आंवला विधानसभा सीट जीत कर इस सीट पर अपना खाता खोला और पंडित आरके शर्मा आंवला से विधायक चुने गए। लेकिन 2012 में एक बार फिर बीजेपी ने इस सीट पर कब्जा जमा लिया। मौजूदा बीजेपी विधायक धर्मपाल यहां से तीन बार विधायक बन चुके हैं।

2012 का परिणाम
2012 के चुनाव में बीजेपी के धर्मपाल ने वापसी करते हुए एक बार फिर आंवला सीट पर कमल खिलाया। बीजेपी के धर्मपाल ने समाजवादी पार्टी के महिपाल सिंह यादव को हराया। धर्मपाल को 50782 वोट मिले जबकि महिपाल सिंह यादव को 46374 वोट मिले बीएसपी के साजिद अली खान 41082 वोट पाकर तीसरे स्थान पर रहे।

अब तक के नतीजों पर एक नजर
- 2012 में बीजेपी के धर्मपाल सिंह ने सपा के महिपाल सिंह यादव को हराया।
- 2007 में बीएसपी के राधा कृष्ण ने सपा के बुलाकीराम को पराजित किया।
- 2002 में बीजेपी के धर्मपाल ने सपा के श्यामबिहारी सिंह को मात दी।
- 1996 में बीजेपी के धर्मपाल सिंह ने सपा के महिपाल सिंह को हराया।
- 1993 में सपा के महिपाल सिंह ने बीजीपी के श्याम बिहारी सिंह को हराया।
- 1991 में बीजेपी के श्यामबिहारी सिंह ने जनतादल के महिपाल सिंह को हराया।
- 1989  में बीजेपी के श्यामबिहारी सिंह ने निर्दलीय शिव कुमार सिंह को हराया।
- 1985 में बीजेपी के श्यामबिहारी सिंह ने कांग्रेस के शिवकुमार सिंह को हराया।
- 1980 कांग्रेस के कल्याण सिंह ने बीजेपी के श्यामबिहारी सिंह को हराया।
- 1977 में जनता पार्टी के श्यामबिहारी सिंह ने कांग्रेस के उमराय प्रसाद को हराया।
- 1974 में भारतीय जनसंघ के श्यामबिहारी सिंह ने कांग्रेस के राजेश्वर सिंह को हराया।
- 1969 में कांग्रेस के केशवराम ने भारतीय जनसंघ के ओमप्रकाश को हराया।
- 1967 में भारतीय जनसंघ के डी प्रकाश ने कांग्रेस के जेएन सिंह को हराया।
- 1962 में कांग्रेस के नवल किशोर ने जनसंघ के एदल सिंह को हराया।
- 1957 में कांग्रेस के नवलकिशोर ने पीएसडी के ब्रजमोहन लाल को हराया।

कुल मतदाता - 296833
पुरुष - 162391
महिला - 134436
अन्य - 06

मौजूदा स्थित
इस बार होने वाले चुनाव के लिए बसपा ने अगम मौर्य को प्रत्याशी बनाया हैं जबकि बीजेपी से मौजूदा विधायक धर्मपाल का लड़ना तय माना जा रहा है। मुलायम सिंह यादव ने एक बार फिर महिपाल सिंह यादव पर दांव लगाया हैं। जबकि अखिलेश यादव पूर्व सांसद कुंवर सर्वराज सिंह के बेटे सिद्धराज सिंह पर दांव लगाना चाहते हैं। कांग्रेस ने अभी तक अपने उम्मीदवार की घोषणा नहीं की हैं।


Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned