आखिर क्या थी ऐसी वजह कि कलक्टर को लेना पड़ा इतना बड़ा फैसला सुनकर सब रह गए दंग

ajay shrivastav

Publish: Jul, 18 2017 02:31:00 (IST)

Bastar, Chhattisgarh, India
आखिर क्या थी ऐसी वजह कि कलक्टर को लेना पड़ा इतना बड़ा फैसला सुनकर सब रह गए दंग

कलेक्टर ने किया कोलचूर के शासकीय संस्थानों का निरीक्षण चार आंगनबाड़ी कार्यकर्ता बर्खास्त, सवा साल में पर्यवेक्षक फिर निलंबित

जगदलपुर. कलेक्टर धनंजय देवांगन ने  सोमवार को बस्तर ब्लॉक के कोलचूर में  प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, आंगनबाड़ी केन्द्र व शैक्षणिक संस्थआनों का निरीक्षण किया। इस दौरान लापरवाही व अनियमितता पर चार आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, चार सहायिक की सेवा समाप्ति के निर्देश दिए। वहीं  विभाग की पर्यवेक्षक निर्मला सोनी को फिर निलंबित करते हुए माध्यमिक शाला की प्रधानाध्यापिका की दो वेतनवृद्धि रोकने के निर्देश भी दिए।

बच्चों की बहुत कम उपस्थिति
निरीक्षण के दौरान  पनारापारा केन्द्र  क्रं. 1 व  2 निर्धारित समय से पहले बंद पाए जाने और आवासपारा एवं सामुदायिक केन्द्र में संचालित आंगनबाड़ी केन्द्र में बच्चों की बहुत कम उपस्थिति पाए जाने पर  इन केन्द्रों की कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं की सेवा समाप्ति के निर्देश जनपद सीईओ घनश्याम जांगड़े को दिए।

एक साल पहले बहाल

इसी तरह क्षेत्र की पर्यवेक्षक निर्मला सोनी द्वारा आंगनबाड़ी केन्द्रों का लम्बे समय से निरीक्षण नहीं करने के कारण  निलंबित कर दिया। उल्लेखनीय है कि निर्मला सोनी को इससे पूर्व भी कार्य में लापरवाही बरतते हुए विधानसभा सत्र के दौरान गलत जानकारी दिए जाने के कारण मार्च 2016 में निलंबित कर दिया गया था, जिन्हें बाद में जुलाई 2016 में बहाल किया गया था। कलेक्टर ने पूर्व माध्यमिक शाला के अवलोकन के दौरान अनियमितताएं पाने पर प्रधानाध्यापिका निर्मला ठाकुर के  2 वेतनवृद्धि रोकने के निर्देश दिए।

रेडी टू ईट में शक्कर की मात्रा मिली कम
कलक्टर ने निरीक्षण के दौरान  आंगनबाड़ी केन्द्र आवासपारा एवं सामुदायिक भवन में भोजन, स्वच्छता, गर्भवती माताओं की उपस्थिति व बच्चों के स्वास्थ्य संबंधी जानकारी ली। उन्होंने  रेडी-टू-ईट की गुणवत्ता परखी और निर्माणकर्ता महिला स्वसहायता समूह को अवगत कराने और उचित मात्रा में शक्कर मिलाए जाने के निर्देश दिए। इस दौरान  प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र  की व्यवस्था को देखकर कलक्टर ने खुशी जताई। इस दौरान  एसडीएम लवीना पाण्डे भी साथ थी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned