केशकाल घाट निर्माण से मालभाड़ा पर असर पडऩा तय

Ajay Shrivastava

Publish: Oct, 18 2016 10:59:00 (IST)

Jagdalpur
केशकाल घाट निर्माण से मालभाड़ा पर असर पडऩा तय

ट्रांसपोर्टर तय कर रहे नीति, भारी वाहनों की आवाजाही नारायणपुर के रास्ते होने से 70 किमी से अधिक का तय करना पड़ रहा है सफर

जगदलपुर. केशकाल घाट मार्ग चौड़ीकरण निर्माण का असर आने वाले दिनों में राशन के साथ ही आलू- प्याज के दामों पर भी पड़ेगा। शहर में आलू- प्याज की खेप रायपुर से होते हुए यहां पहुंचती है।

इन दिनों यह खेप माकड़ी से होते हुए नारायणपुर के रास्ते जगदलपुर आ रही है। इस रास्ते से ट्रांसपोर्टरों को 70 किमी से अधिक का सफर तय करना पड़ रहा है।

70 किमी से अधिक का आना और इतनी ही दूरी का सफर वापसी का होने से ट्रक चालकों को डीजल का अधिभार उठाना पड़ रहा है। इस बढ़े हुए भार को वे मालभाड़ा में जोडऩे की फिराक में हैं। यदि यह मालभाड़ा जुड़ता है तो आलू-प्याज के दाम उछल सकते हैं। फिलहाल राहत की बात यह है कि यहां पहले से बुक किए हुए ट्रांसपोर्ट के माल ही पहुंच रहे हैं।

समय अधिक तो परेशानी

आलू- प्याज के साथ ही राशन के अन्य सामानों के थोक व्यवसायियों का कहना है कि केशकाल घाट निर्माण में यदि समय अधिक लगा तो आने वाले दिनों में ट्रांसपोर्ट की दिक्कत आ सकती है। नारायणपुर रुट से आवाजाही करना ट्रांसपोर्टर पसंद नहीं करते हैं। इसमें समय तो जाया होता ही है। रास्ता खराब व माओवादी हमलों का भी खौफ वे दर्शा रहे हैं।

वाहनों को रोके जाने से परेशानी

मरम्मत व चौडीकरण के चलते यातायात सुचारु बनाए रखने पुलिस विभाग यात्री बसों व छोटी वाहनो को 3 से 4 घंटे तक रोके रखते हैं। इस वजह से दिक्कतें ज्यादा हो रही हैं। यात्रियों का कहना है कि केशकाल में सुविधा कम होने से चार घंटे तक रुकना भारी लगता है। राहत की बात यह है कि घाट के नीचे दादरगढ़ में केशकाल पुलिस इन मुसाफिरों को पानी पिलाने की व्यवस्था किए हुए है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned