आंदोलन-गिरफ्तारी के बाद भी ठेकेदार निर्माण में दिखा रहा ठेंगा

Ajay Shrivastava

Publish: Dec, 01 2016 08:45:00 (IST)

Jagdalpur
आंदोलन-गिरफ्तारी के बाद भी ठेकेदार निर्माण में दिखा रहा ठेंगा

2013 में इस बाईपास का हुआ था लोकार्पण, 19 किमी लंबाई का है बाईपास, गुणवत्ता विहिन होने बावजूद सड़क का निमार्ण करवाने  न तो ठेकेदार वापस आया न हीं  पीडब्लूडी ने की कार्रवाई

जगदलपुर . आड़ावाल से तेलीमारेंगा बाईपास की उधड़ी सड़क ने अब तक चार जानें ले ली हैं। शरुआत से ही इस सड़क निर्माण पर भ्रष्टाचार की खबरेें उजागर होती रही थीं।

इस मसले को लेकर वैसे तो भाजपा, आप, कांग्रेस ने छिटपुट प्रदर्शन किया है, बावजूद न तो ठेकेदार अमर अग्रवाल  ने पुनर्निमाण शुरु किया है न ही विभाग ने उसकी परफार्मेंश गारंटी जब्त करने की हिमाकत की है।

इसी बात को लेकर मंगलवार को नवगठित छत्तीसगढ़ जोगी कांगे्रस ने पुरजोर उठाते हुए चार घंटे  तक  न सिर्फ धरना दिया बल्कि इसके साढ़े तीन सौ से अधिक सदस्यों ने अपनी गिरफ्तारी भी दी। इसके बाद भी न तो विभागीय अधिकारियों ने इस मामले को लेकर कोई गंभीरता नजर आती है न ही वे इस बारे में कोई अधिकृत बयान देने आगे आ रहे हैं।

माह भर पहले ही भरी थी हामी
पीडब्लूडी को ठेकेदार अमर अग्रवाल कंस्ट्रक्सन ने दो माह के भीतर तीन मर्तबा  इस सड़क के पुनर्निमाण के खत लिखकर आश्वासन दिया है। इसके बाद भी वह काम करता नहीं दिखाई देता। पखवाड़े भर पहले एकमात्र जेसीबी को लेकर उसने बाईपास मरम्मत किए जाने का दिखावा किया। दो दिन काम करने के बाद जेसीबी भी गायब हो गई।

17 किमी बनाने का किया था दावा
पीडब्लूडी सूत्रों ने बताया कि दबाव बनाने के बाद भी ठेकेदार अमर अग्रवाल ने पूरी सड़क का पुनर्निमाण करने से मना कर दिया है। फिलहाल व एक से लेकर 17 किमी तक के रास्ते के सुधार की कवायद करने की बात कह रहा है। हालत को देखते एेसा होना मुश्किल नजर आ रहा है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned