आठ दिन से बैंक की लाइन में लगे बुजुर्ग ने जब रोते हुए कहा- नहीं मिले पैसे...  

Basti, Uttar Pradesh, India
आठ दिन से बैंक की लाइन में लगे बुजुर्ग ने जब रोते हुए कहा- नहीं मिले पैसे...  

वहीं पैसे के लिए बैंक में मची भगदड़, कई महिलाएं हुईं घायल...

बस्ती. नोटबंदी के बाद ग्रामीण ईलाको में लोग काफी परेशानी का सामना कर रहे हैं। कहीं पुलिस अपने खाते से पैसे निकालने के लिये लाईन में खड़े ग्रामीणों को डंडे मारती है तो कहीं सुबह से शाम तक बैंक के बाहर खड़े होने के बाद भी लोगों को पैसे नहीं मिल रहे।

ऐसी ही परिस्थिति का सामना करना पड़ा पीएनबी शाखा विक्रमजोत के ग्राहकों को जहां सैकड़ों की संख्या में पहुंचे ग्रामीणों का सब्र उस वक्त टूट गया जब बैंक का शटर खुला सुरक्षा व्यवस्था चुस्त न होने की वजह से भीड़ एक साथ बैंक के अंदर घुसने का प्रयास करने लगी जिसमें तीन महिलायें नीचे गिर गई और लोग उनके उपर चढ़ते हुये बैंक के अंदर घुसे।

जब कि आधा दर्जन धक्का मुक्की में घायल हो गये गंभीर घायल महिलाओं को आनन फानन में फैजाबाद के अस्पताल में भर्ती कराया गया है जब कि अन्य घायल स्थानीय अस्पताल में अपना ईलाज कराकर वापस लौट गये। वहीं भगदड़ के बाद बैंक के बाहर फोर्स पहुंची जहां पर उसे लोगों के आक्रोश का सामना करना पड़ा। 

बुजुर्ग ने जब रोते हुए कहा- नहीं मिले पैसे...
बैंक के बाहर खड़े एक बुजुर्ग ने अपना दुखड़ा सुनाते हुये कहा कि वह पिछले आठ दिन से अपने खाते से पैसे निकालने आता है मग रवह बैंक के अंदर ही नहीं जा पाता। जिस वजह से उसे रोजाना निराश होकर वापस लौटना पड़ता। रोते-रोते बुजुर्ग की आंखो में आंसू आ गए।

वह कहां कि पैसे न निकल पाने का गम लिये एक बार फिर से वापस लौट गया। इस बुजुर्ग की तरह न जाने कितने अन्य लोग है जो रोजाना बैंक के बाहर आते तो जरूर है मगर वे अपना ही पैसा नहीं निकाल पाते। नोटबंदी के बाद अब गांव ईलाको में हालात बिगड़ते जा रहे हैं। 

अभी तक जो आंकड़े मिले हैं उसके अनुसार जिले में 9 नवबंर से अब तक सभी बैंको ने लगभग 148 करोड़ की
करेंसी वितरित कर चुके हैं जब कि जिले के बैंको में 654 करोड़ रूपये जमा हुये हैं।

नोट- खबर के लिए डेमो पिक्चर का प्रयोग किया गया है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned