स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह का अधिकारियों का निर्देश, जनता के फोन का तुरंत दें रिस्पांस

Basti, Uttar Pradesh, India
स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह का अधिकारियों का निर्देश, जनता के फोन का तुरंत दें रिस्पांस

जिला योजना समिति की बैठक में वर्ष 2017-18 के लिए कुल 04 अरब 08 करोड़ 98 लाख रूपये की बजट की मंजूरी।

बस्ती. योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने मंगलवार को जिला योजना समिति की बैठक में वर्ष 2017-18 के लिए कुल 04 अरब 08 करोड़ 98 लाख रूपये की बजट की मंजूरी दी। इस दौरान अधिकारियों को निर्देश देते हुए सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि जनता के फोन का अधिकारी तुरंत रिस्पांस दें और काम में लापरवाही किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जायेगी। 

जनपद के प्रभारी मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह के आगमन पर सर्वप्रथम निरीक्षण गृह में सांसद, विधायकगण, जिलाध्यक्ष पवन कसौधन, जिला महामंत्री आशीष शुक्ल एवं क्षेत्रीय मंत्री अजय सिंह गौतम सहित अन्य पार्टी के युवा संगठनों के प्रतिनिधियों तथा पार्टी के महिला शाखा के संगठन कार्यकर्ताओं द्वारा स्वागत किया गया।


प्रभारी मंत्री ने अपने सम्बोधन में कहा कि मैं भ्रष्टाचार से किसी भी प्रकार से समझौता नही करता, जनप्रतिनिधि एवं सरकारी अधिकारी दोनेां में तालमेल होना बहुत जरूरी है तथा दोनों ही विकास के दाये एवं बायें हाथ है। उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधि जनता के बीच जाते है तो उनकी अपेक्षायें होती हैं, उन अपेक्षाओं को गुणवत्ता के साथ समय से पूरा करना चाहिए तथा अधिकारियों को भी बैठकों में पूरी सूचना के साथ आना चाहिए और उन्हें अपने दायित्वों को अच्छी तरह निर्वहन करना चाहिए। जनप्रतिनिधि का कोई फोन जाता है तो अधिकारियों को उसका जवाब समय से देना चाहिए।


यह भी पढ़ें:
तहसील दिवस पर इंसाफ के लिये रोते रहे फरियादी, वाट्सअप और मोबाइल गेम में व्यस्त रहे अधिकारी, देखें वीडियो


मंत्री ने जनपद में विकास कार्यक्रमों को तेज करने स्वास्थ्य विभाग को फाॅगिंग /साफ-सफाई करने तथा ग्रामीण क्षेत्रों में स्वच्छता के लिए जिला पंचायत अधिकारी को 15 दिन के अन्दर पूरा करेन के निर्देश दिये गये तथा जिलाधिकारी को तीन सदस्यी समिति बनाने का निर्देश दिया, जिसमेें विधायक के प्रतिनिधि, परगनाधिकारी के प्रतिनिधि एवं क्षेत्र पंचायत सदस्यों के प्रतिनिधि रहेंगे, जो ग्रामीण क्षेत्रों में सफाई की सत्यापन रिपेार्ट देंगे।

जिला योजना समिति की बैठक में सामाजिक न्याय के साथ विकास सिद्धान्त पर आधारित प्रस्तावित विकास कार्यक्रमों में समाज के पिछड़े वर्गो के लिए रोजगार एवं विकास के अवसरों पर विशेष ध्यान दिया गया। जनपद के सर्वागीण विकास हेतु अनुमोदित बजट में लगभग 46 विभाग शामिल है। जिला योजना का बिन्दुवार विवरण जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी श्री आर एस पाण्डेय ने प्रस्तुत किया। स्थानीय अावश्यकताओं को देखते हुए बनाई गयी विशाल जिला योजना के अन्तर्गत कुल परिव्यय रू0 40898 लाख के सापेक्ष कृषि, उद्यान, गन्ना, पशुपालन, मत्स्य पालन, दुग्ध विकास एवं वन विभाग हेतु 1194.58 लाख , प्राथमिक शिक्षा एवं माध्यमिक शिक्षा हेतु रूपया 905.49 लाख, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य हेतु रू0 4452 लाख, ग्रामीण एवं नगरीय पेयजल हेतु रू0 950.95 लाख , रोजगार एंव आजीविका (मनरेगा एवं एनआरएलएम) हेतु रू0 11827.07 लाख, इंदिरा आवास, लोहिया आवास एवं पूल्ड आवास हेतु रू0 8295.53 लाख, सिचाई हेतु रू0 298.80 लाख, सड़क निर्माण हेतु रू0 3366.17 लाख, ग्रामीण स्वच्छता हेतु  रू0 5358.90 लाख, अतिरिक्त उर्जा स्रोत हेतु रू0 70 लाख तथा पर्यटन विकास हेतु रू0 20 लाख के परिव्यय का अनुमोदन किया गया।


बैठक में अन्य कल्याणकारी योजनाए जैसे अनुसूचित जाति कल्याण, पिछड़ी जाति कल्याण, अल्पसंख्यक कल्याण, सामान्य जाति कल्याण, समाज कल्याण, विकलांग कल्याण एवं महिला एवं बाल कल्याण हेतु रू0 2329.12 लाख तथा सेवायोजन एवं शिल्पकार प्रशिक्षण हेतु रू0 60 लाख का अनुमोदन प्रभारी मंत्री ने किया। मंत्री ने कहा कि सभी अधिकारीगण अपने-अपने विभाग की योजनाओं का विवरण, कार्य योजना मुख्य विकास अधिकारी के माध्यम से सांसद, विधायक एवं आवश्यकतानुसार अन्य जनप्रतिनिधियों को अवगत कराते हुए इसकी सूचना उनके ई-मेल पर भी भेजना सुनिश्चित करेंगे। जनपद के विकास में पारदर्शिता, जिम्मेदारी, गुणवत्ता एवं समयबद्धता का पालन किया जाय तथा सभी कार्यवाही मुख्य विकास अधिकारी के माध्यम से किया जाय। शासन के सभी योजनाओं एवं लाभार्थियो की सूची जनप्रतिनिधियो को भी उपलब्ध कराना सुनिश्चित करे। अधिकारीगण विकास कार्यो में शिथिलता न वरते एवं सभी निर्माण कार्य एवं लाभकारी योजनाए ससमय गुणवत्ता के साथ पूर्ण करायी जाय।


मंत्री ने कहा कि वे स्वयं अगली बैठक के दौरान विकास कार्यो /निर्माण कार्यों का स्थलीय निरीक्षण करते हुए योजनाओं के लाभार्थियों से उसकी गुणवत्ता/संतुष्टि के बारे में भी पूछ-ताछ करेंगे। बैठक में सांसद हरीश द्विवेदी ने कहा कि अधिकारीगण पूरी तन्मयता एवं उत्साह के साथ काम करे तथा भ्रष्टाचार की शिकायत मिलने पर तत्काल उसकी जांच कर कार्यवाही करे। उन्होंने कहा कि जनपद के विकास के लिए कार्यप्रणाली में सुधार एंव समयबद्ध कार्रवाई आवश्यक है इसमें टालमटोल न हो। मुख्य विकास अधिकारी हर्षिता माथुर ने  मंत्री का आभार व्यक्त किया गया, वहीं मंत्री ने योग दिवस में शामिल होने हेतु सभी को आह्वान भी किया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned