ODF गांव में खुले में शौच का दर्द, पहले नाबालिग से बलात्कार फिर कर दी निर्मम हत्या

Bemetara
ODF गांव में खुले में शौच का दर्द, पहले नाबालिग से बलात्कार फिर कर दी निर्मम हत्या

वर्ष 2016 में ओडीएफ घोषित हो चुके बेरला ब्लॉक के ग्राम पंचायत सिवार में रविवार रात को शौच के लिए निकली नाबालिग मूकबधिर लड़की की हत्या कर दी गई।

बेमेतरा (बेरला) .वर्ष 2016 में ओडीएफ घोषित हो चुके बेरला ब्लॉक के ग्राम पंचायत सिवार में रविवार रात को शौच के लिए निकली नाबालिग मूकबधिर लड़की की हत्या कर दी गई। मामले को 12 घण्टे के भीतर सुलझाते हुए पुलिस ने आरोपी को पकडऩे में सफलता प्राप्त की है।

प्रथम दृष्टया आरोपी द्वारा बालिका से दुष्कर्म कर हत्या करना बताया जा रहा है, लेकिन दुष्कर्म की पुष्टि पीएम रिपोर्ट मिलने के बाद ही होगी। आरोपी युवक के विरुद्ध धारा 302 भादवि के तहत प्रकरण दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया है।

बेरला ब्लॉक के ग्राम पंचायत सिवार की है घटना

एएसपी गायत्री सिंह ने बताया कि आरोपी सूरज उर्फ हेमंत पिता सनत राजपूत (26) ग्राम सिवार विवाहित है, जो दुष्कर्म करने के नीयत से मृतका का कई दिनों से पीछा कर रहा था। 16 जुलाई शाम करीब 6.30 बजे बालिका दिशा मैदान की ओर गई हुई थी, जहां आरोपी मृतका का पीछा कर गांव से करीब 400 मीटर दूर सुनसान खेत में बालिका के अकेलेपलन का फायदा उठाकर उससे जोरजबरदस्ती करने लगा। इस दौरान मदद के लिए बालिका के चिल्लाने पर आरोपी घबरा गया और पकड़े जाने के भय से खेत में भरे पानी में बालिका का मुंह डुबाकर हत्या कर दी।

पिता नहीं, भाई भी कमाने खाने गया
ग्रामीणों के अनुसार, मृतका के पिता समारु का निधन पहले ही हो चुका है। वहीं भाई जितेंद्र कमाने-खाने के लिए बाहर गया हुआ है। घर में मां शिवकुमारी मृतक व उसकी छोटी बहन रहते थे। परिवार की माली हालत कमजोर है। रविवार को मृतिका के घर नहीं आने से परिवार परेशान था, आज उसकी मौत से सब बेहाल हैं। भाई जितेंद्र को फोन पर घटना की जानकारी दी गई।

पीएम के लिए 2 घंटे का इंतजार

शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेजा गया। जिला अस्पताल से महिला डॉक्टर अनामिका मिंज केा पीएम के लिए बेरला रवाना कर दिया गया था, लेकिन शव जिला अस्पताल में लाए जाने के बाद बेरला से डाक्टर के वापस लौटने में 2 घण्टे से अधिक समय लग गया। उसके बाद दो चिकित्सकों की टीम ने मृतका के शव का पोस्टमार्टम किया।

फरार हो गया था आरोपी
घटना को अंजाम देने के पश्चात् आरोपी युवक मौके से फरार हो गया। बालिका के काफी देर तक घर नहीं लौटने पर परिजन ग्रामीणों के साथ उसकी खोजबीन मे लग गए। प्रात: करीब 6 बजे ग्रामीणों को बालिका शव अर्धनग्न हालत में खेत में भरे पानी में डुबे हालत में मिला। ग्रामीणों की सूचना पर थाना बेरला प्रभारी प्रेम साहू दलबल के साथ मौके पर पहुंचे, वहीं डाग स्क्वायड टीम के घटनास्थल पहुंचने पर शव के पास से साक्ष्य इकट्ठा किए गए।

12 घंटे में आरोपी पुलिस की गिरफ्त में

एसपी डीके गर्ग ने मामले को गंभीरता से लेते हुए आरोपी को पकडऩे जिला क्राइम ब्रंाच व पुलिस की कई टीमों को संभावित स्थानों की ओर रवाना किया गया। परिजन ने आरोपी सूरज राजपूत पिता सनत राजपूत द्वारा उसकी बेटी को आए दिन परेशान करने की जानकारी पुलिस को दी और हत्या में उसका हाथ होने की आशंका जाहिर की।

मुखबिर की सूचना पर 12 घण्टे के भीतर जिला क्राइम ब्रांच व बेरला पुलिस की संयुक्त टीम ने आरोपी सूरज राजपूत को रायपुर से गिरफ्तार किया। आरोपी को गिरफ्तार कर अग्रिम कार्रवाई हेतु थाना बेरला लाया गया। जहंा उसके विरूद्ध धारा 302 भादवि के तहत प्रकरण दर्ज कर मंगलवार को न्यायालय में पेश किया जाएगा।

सामने आई ओडीएफ की सच्चाई

बेमेतरा जिले में केवल बेरला ब्लॉक ही ओडीएफ घोषित हुआ है। पिछले साल तमाम कवायदों के बाद बेरला ब्लॉक को ओडीएफ घोषित किया गया था, जिसके बाद गांवों में आधे-अधूरे शौचालयों के निर्माण की बात सामने आई है।

हत्या के इस मामले में नाबालिग लड़की के शौच के लिए रात को बाहर जाना बड़ी वजह है, जहां आरोपी अंधेरे का फायदा उठाते हुए अपने कृत्य को अंजाम दिया। बताया जाता है मृतिका के घर में शौचालय का निर्माण हुआ है, लेकिन शौचालय बनने के बाद उसका उपयोग नहीं होना भी प्रशासन की नाकामी को दर्शाता है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned