चने के खेत में चलने से शुरू हुआ विवाद खूनी संघर्ष में तब्दील, 5 घायल 3 गंभीर

Bemetara, Chhattisgarh, India
चने के खेत में चलने से शुरू हुआ विवाद खूनी संघर्ष में तब्दील, 5 घायल 3 गंभीर

बेमेतरा थाना क्षेत्रांर्गत ग्राम सिरसा में फसल पर चलने को लेकर शुक्रवार को दो पक्षों के बीच शुरू विवाद खूनी संघर्ष में तब्दील हो गया। दोनों पक्षों ने सिटी कोतवाली पहुंचकर मामला दर्ज कराया है।

बेमेतरा.बेमेतरा थाना क्षेत्रांर्गत ग्राम सिरसा में फसल पर चलने को लेकर शुक्रवार को दो पक्षों के बीच शुरू विवाद खूनी संघर्ष में तब्दील हो गया। दोनों पक्षों ने सिटी कोतवाली पहुंचकर मामला दर्ज कराया है। विवाद में गंभीर रूप से घायल तीन लोगों को इलाज के लिए जिला अस्पताल लाया गया। प्रार्थी साहेबदास पिता श्यामरतन सतनामी (44) ग्राम सिरसा के अनुसार गांव के तिजऊ सतनामी के खेत से होकर अपने खेत जा रहा था।

दोनों पक्षों ने दर्ज कराया मामला
इसी बात से नाराज होकर आरोपी बाप-बेटा तिजऊ व प्रेमलाल ने प्रार्थी पर टंगिया से हमला कर दिया। वहीं प्रार्थी तिजऊ पिता केजऊ राम घृतलहरे (55) ग्राम सिरसा ने बताया कि आरोपी साहेबदास उसके चने के खेत से गुजरकर अपने खेत जा रहा था। मना करने पर वह अभद्र भाषा का प्रयोग करने लगा और लाठी से हमला कर दिया। इसके पश्चात दोनों पक्षों के गांव पहुंचने पर विवाद बढ़ गया। जहां उनके परिवार के सदस्य एक-दूसरे पर लाठी-डण्डे से हमला कर दिया। 

पांच घायल, तीन गंभीर
विवाद में पांच लोग घायल हो गए, जिसमें तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए, वहीं दो को मामूली चोट आई है। सभी घायलों को संजीवनी वाहन व निजी साधन से उपचार के लिए जिला अस्पताल लाया गया। प्राथमिक उपचार पश्चात गंभीर साहेब दास, तिजऊ राम व अमरदास को मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया।

इन पर अपराध पंजीबद्ध
दोनों पक्षों के विरुद्ध सिटी कोतवाली में बलवा का मामला दर्ज किया गया है। प्रार्थी तिजऊ राम सतनामी की रिपोर्ट पर आरोपी साहेब दास, तारन, अमरदास, पार्वती बाई, शोभित, दुरपति बाई, आमीन बाई के विरूद्ध धारा 294, 506 बी, 323, 324, 147, 148 भादवि के तहत मामला पंजीबद्ध किया गया है। वहीं प्रार्थी साहेब दास सतनामी की रिपोर्ट पर आरोपी तिजऊ, प्रेमलाल, विजय, राम बाई सुलेखा बाई, पूजा बाई, अनीता, गीता बाई के विरुद्ध धारा 147, 148, 506, बी, 323, 34 भादवि के तहत मामला पंजीबद्ध कर विवेचना की जा रही है।

पुरानी रंजिश पर विवाद
विवेचना अधिकारी सुरेश सिंह राजपूत के अनुसार दोनों प्रार्थी एक दूसरे के पड़ोसी है। वर्ष 2014 में शौचालय निर्माण को लेकर दोनों पक्षों में विवाद हुआ था, उस समय हुए विवाद के बाद से दोनों पक्षों के बीच रंजिश चली आ रही है। जो शुक्रवार को घटना के दिन खूनी संघर्ष का रूप ले लिया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned