पढि़ए, कलेक्टर कोर्ट रूम से चोरी हुआ कम्प्यूटर

Devendra Karande

Publish: Jun, 20 2017 09:16:00 (IST)

betul
पढि़ए, कलेक्टर कोर्ट रूम से चोरी हुआ कम्प्यूटर

कलेक्टोरेट कार्यालय में कलेक्टर कोर्ट रूम के अंदर शस्त्र लायसेंस शाखा का रखा एक कम्प्यूटर चोरी जाने का मामला सामने आया है। घटना करीब 15 दिन पुरानी बताई जाती है। चूंकि कोर्ट रूम के अंदर से कम्प्यूटर का चोरी होना बड़ी घटना है इसलिए कलेक्टोरेट के अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा पूरे मामले को दबाया जा रहा था।

बैतूल। कलेक्टोरेट कार्यालय में कलेक्टर कोर्ट रूम के अंदर शस्त्र लायसेंस शाखा का रखा एक कम्प्यूटर चोरी जाने का मामला सामने आया है। घटना करीब 15 दिन पुरानी बताई जाती है। चूंकि कोर्ट रूम के अंदर से कम्प्यूटर का चोरी होना बड़ी घटना है इसलिए कलेक्टोरेट के अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा पूरे मामले को दबाया जा रहा था। चोरी को लेकर ताज्जुब इस बात का भी है कि कलेक्टर कक्ष के बाहर दो भृत्य हमेशा ड्यूटी पर तैनात रहते हैं। साथ ही सुरक्षा के लिहाज से कलेक्टर कक्ष के बाहर सीसीटीव्ही कैमरे भी लगाए गए हैं। कोर्ट के ठीक सामने शस्त्र लायसेंस शाखा भी मौजूद हैं जिसका दरवाजा हमेशा खुला रहता है। इन सबके बावजूद कम्प्यूटर का चोरी चला जाना अपने आप में आश्चर्य है।The collector was placed on this table inside the
थाने में दर्ज कराई गई एफआईआर
कलेक्टोरेट के कोर्ट रूम से पंद्रह दिन पहले कम्प्यूटर चोरी जाने की सूचना शस्त्र शाखा के बाबू द्वारा एडीएम मूलचंद वर्मा को दी गई थी। जिसके बाद उन्होंने नोटशीट चलाकर कलेक्टर को पुटअप करने के निर्देश दिए थे। कलेक्टर ने पूरे मामले में एफआईआर दर्ज कराने निर्देश जारी कर दिए। थाने में एफआईआर भी दर्ज करा दी गई लेकिन अभी तक कम्प्यूटर चोरी का पता नहीं चल सका है। बताया गया कि कोर्ट रूम से कम्प्यूटर का अचानक चोरी चले जाना किसी के गले नहीं उतर रहा है। वहीं पुलिस भी चोरी के इस मामले की खुलकर जांच नहीं कर पा रही है क्योंकि मामला यदि मीडिया की सुर्खियों में आता है तो किरकिरी हो सकती है।यहीं कारण है कि मामले में अभी तक न तो कोई जांच आगे बढ़ पाई है और न ही पुलिस आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ पाए हैं।
तीसरी आंख की निगरानी से कम्प्यूटर चोरी
कलेक्टर कक्ष में सुरक्षा की दृष्टि से सीसीटीवी कैमरे तक लगाए गए हैं। ताकि  किसी प्रकार की कोई घटना हो तो उसे रिकॉर्ड किया जा सके। तीसरी आंख की सुरक्षा के बावजूद कलेक्टर कोर्ट रूम से कम्प्यूटर का चोरी होना कई सवालों को भी जन्म दे रहा है। बताया गया कि कोर्ट रूम के अंदर एक टेबल पर कम्प्यूटर सेट रखा हुआ था।  इस कम्प्यूटर का इस्तेमाल शस्त्र शाखा के डोंगरे बाबू द्वारा किया जाता था। अचानक से कम्प्यूटर चोरी चला जाता है। अधिकारी गुपचुप तरीके से मामले की एफआईआर दर्ज करा देते हैं और पुलिस भी गुपचुप तरीके से जांच में जुट जाती है, लेकिन इस सवाल का जवाब कोई नहीं दे रहा है कि तमाम सुरक्षा व्यवस्था के बावजूद चोरी कैसे हो गई। 
इनका कहना
- मामले की एफआईआर थाने में दर्ज कराई जा चुकी है। चोरी का खुलासा होने के बाद यदि किसी कर्मचारी की गलती सामने आती है तो मामले में संबंधित के खिलाफ विभागी स्तर पर कार्रवाई की जाएंगी। - शशांक मिश्र, कलेक्टर बैतूल। 
- कम्प्यूटर चोरी होना पंद्रह दिन पहले की घटना है। लायसेंस शाखा के डोंगरे बाबू इस कम्प्यूटर को चलाता था। हमारे द्वारा उसे नोटशीट चलाकर कलेक्टर को पुटअप करने के निर्देश दिए थे। मामले में कलेक्टर ने एफआईआर दर्ज  कराने के निर्देश दिए थे।  
- मूलचंद वर्मा, एडीएम बैतूल। 
- अभी आरोपी का पता नहीं चल पाया है। पुराने चोरों की तलाश कर उनसे पूछताछ की जा रही है। जल्द ही कम्प्यूटर चोरी का पता लगा लिया जाएगा। 
- एसआर झा, टीआई बैतूल।  

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned