भ्रष्टाचार निवारण का अध्यक्ष टोल पर चला रहा था नकली नोट 

ghanshyam rathor

Publish: Jun, 19 2017 09:39:00 (IST)

betul
भ्रष्टाचार निवारण का अध्यक्ष टोल पर चला रहा था नकली नोट 

भ्रष्टाचार निवारण का अध्यक्ष टोल पर चला रहा था नकली नोट पुलिस ने अध्यक्ष सहित दो आरोपियों को पकड़ा। 22,250 रुपए के जब्त किए नकली नोट।  पुलिस गिरफ्त में नकली नोट चलाने वाले आरोपी। 

 
बैतूल। भ्रष्टाचार पर रोक लगाने काम करने वाली संस्था महाराष्ट्र के अध्यक्ष को पुलिस ने  नकली नोट के साथ रविवार रात में एनएच 47 से पकड़ा है। पुलिस ने दो आरोपियों से 22,250 रुपए के नकली नोट जब्त किए हैं। आरोपियों द्वारा मिलानपुर स्थित टोल नाके पर नकली नोट चलाया जा रहा था। 
बैतूलबाजार थाना प्रभारी अनूप सिंह नैन ने बताया कि टाटा सफारी वाहन क्रमांक एमएच 43 व्ही 1974 में सवार दो लोगों राजू पिता भास्करराव इंगोले 32 वर्ष नादोरा थाना देवली जिला वर्धा महाराष्ट्र और गुणवंत पिता देवराव झोड़ 54 वर्ष काजलसराह थाना देवली जिला वर्धा महाराष्ट्र को पकड़ा है। आरोपियों द्वारा मिलानपुर टोल नाके पर दो हजार रुपए का नकली नोट चलाया जा रहा था। दोनों को थाने लाकर तलाशी लेने पर 2 हजार के 6, 100 रुपए के 88 और 50 रुपए के 69 नोट नकली निकले हैं। आरोपियों से कुल 22,250 रुपए के नकली नोट मिले हैं। एक आरोपी राजू इंगोले द्वारा खुद को भारतीय भ्रष्टाचार निवारण संस्था वर्धा का अध्यक्ष बता रहा है। राजू ने बताया कि वह नादोरा वर्धा में पार्थ एग्रो एजेंसी के नाम से खाद और बीज की दुकान चलाता है। दुकान के काम से अपने रिश्तेदार गुणवंतराव को लेकर इंदौर गया था। गुणवंतराव को उसके दोस्त ने नकली नोट दिए हैं। नैन ने बताया नकली नोट चलाने वाले अंतरराज्यीय गिरोह के आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। दोनों आरोपियों पर धारा 489 ख और 489 ग के तहत केस दर्ज किया है। 
75 रुपए के लिए दिया दो हजार का नोट 
आरोपियों की गाड़ी रविवार रात में मिलानपुर स्थित टोल नाके पहुंचे। टोल नाके के कर्मचारियों को 75 रुपए टोल देने के लिए आरोपियों ने दो हजार का नोट दिया है। कर्मचारी दीपक सिंह परिहार ने दो हजार नोट हाथ में लेते ही देखा तो वह नकली नजर आया। परिहार ने इसकी सूचना बैतूलबाजार पुलिस को दी। पुलिस ने दोनों आरोपियों को पकड़ लिया। 
 ये हैं असली और नकली का अंतर 
टीआई अनूप सिंह नैन ने बताया कि नकली नोटों पर वाटर मार्क नहीं हैं। गांधीजी का फोटो नहीं है। सिक्यूरिटी फीचर्स नहीं है। एक ही सीरिज के नोट है। नोट का कागज मोटा है। इस तरह अन्य पहचान में असली नोटों से अलग है। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned