अध्यापकों के एरियर में घालमेल, सामने आयी 275 करोड़ की हेरफेर 

Bhopal, Madhya Pradesh, India
अध्यापकों के एरियर में घालमेल, सामने आयी 275 करोड़ की हेरफेर 

अध्यापक संवर्ग के छठवें वेतनमान में दो साल के एरियर का घालमेल हुआ, 'वर्ग दोÓ वाले अध्यापक को ही 1.86 लाख रुपए का नुकसान 

भोपाल. अध्यापक संवर्ग के छठवें वेतनमान में दो साल के एरियर का घालमेल हुआ है। 'वर्ग दो वाले अध्यापक को ही 1.86 लाख रुपए का नुकसान होगा। प्रदेश के 2.84 अध्यापकों में यह आंकड़ा करीब 275 करोड़ रुपए बनेगा। सरकार अध्यापकों को छठवें वेतनमान की अंतरिम राहत सितंबर 2013 से दे रही है, लेकिन वेतनमान जनवरी 2016 से लागू किया। एरियर भी जनवरी 2016 से बन रहा है। अध्यापकों की नियुक्ति शहरी क्षेत्र में नगरीय निकाय और ग्रामीण क्षेत्र में पंचायतों से हुई। वेतनमान से लेकर नियुक्ति ये ही करते हैं, जबकि आदेश पालन शिक्षा विभाग का करते हैं।


एेसे समझें घालमेल 
-7800 रु. प्रतिमाह के हिसाब से पहले साल में  93 हजार रुपए का नुकसान।
-दूसरे साल में 5200 रुपए प्रतिमाह के अनुसार 62400 रुपए का नुकसान।
-तीसरे साल में 2600 रुपए प्रतिमाह के अनुसार 31200 रुपए का नुकसान। 
-तीन साल में प्रति अध्यापक करीब 1.86 लाख रुपए का नुकसान हुआ। 
-यदि एरियर सितंबर 2013 से दिया जाता तो सरकार को प्रति अध्यापक इतनी राशि एरियर के तौर पर देना होती।
-जनवरी 2016 से एरियर देने की स्थिति में पूरी राशि खत्म हो गई। 


-जनवरी 2016 से भी एरियर में महज 2600 रुपए प्रतिमाह के अनुसार 23400 रुपए ही एरियर बनेगा। 
-छठे वेतनमान में तय ग्रेड पे के आधार पर किसी को कुछ ज्यादा राशि दे दी गई है तो वह भी इसमें से काट ली जाएगी। 
-नौ माह के एरियर की जो भी राशि होगी वह भी 2018 तक यानि आगामी तीन सालों में तीन किस्तों में दी जाएगी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned