शरीर को खोखला बना रही है Antibiotic

Brajendra Sarvariya

Publish: Nov, 30 2016 01:00:00 (IST)

bhopal
शरीर को खोखला बना रही है Antibiotic

जितनी मात्रा में और जिस समय डॉक्टर बताएं, उसी अनुसार एंटीबायोटिक्स लें और समय का ध्यान न रखना नुकसान पहुंचा सकता है।

भोपाल। एंटीबायोटिक्स लेने से पहले डॉक्टर की सलाह अनिवार्य होती है। लेकिन सहज सर्दी-जुखाम और सिर दर्द में लोग ऐसा नहीं करते। जबकि यह साफ हो चुका है कि ज्यादा एंटीबायोटिक्स लेना और डॉक्टर की सलाह के बिना एंटीबायोटिक्स लेना स्वास्थ्य पर खतरा बन सकते हैं। डॉ. पवन गुलाटी कहते हैं कि बैक्टीरिया सूक्ष्मजीव होते हैं, जो कई प्रकार के संक्रमणों का कारण बनते हैं। लेकिन उन्हें रोकने के लिए सही एंटीबायोटिक्स लेना जरूरी है अन्यथा यह हमारी जान को भी खतरे में डाल सकते हैं।

एंटीबायोटिक्स का इस्तेमाल
0 जितनी मात्रा में और जिस समय डॉक्टर बताएं, उसी अनुसार एंटीबायोटिक्स लें और समय का ध्यान न रखना नुकसान पहुंचा सकता है।
0 डॉक्टर जितने समय के लिए एंटीबायोटिक्स कोर्स करने की सलाह दें, उसे अवश्य पूरा करें। 
0 अगर आप उपचार तुरंत बंद कर देंगे तो कुछ बैक्टीरिया जीवित बच जाएंगे और पुन: संक्रमण हो सकता है। 
0 इन्हें खाना खाने से एक घंटा पहले या दो घंटे बाद लेना चाहिए।

एंटीबायोटिक्स के दुष्प्रभाव
0 पेनिसिलीन, सेफैलोस्पोरिन और इरिथ्रोमाइसिन के इस्तेमाल सबसे घातक है।
0 किडनी स्टोन का निर्माण।
0 सूरज की किरणों के प्रति संवेदनशील होना।
0 कुछ की बड़ी आंत में सूजन आ जाती है, जिससे डायरिया हो सकता है।
0 एंटीबायोटिक्स लेने के तुरंत बाद एलर्जिक रिएक्शन दिखाई देना।
0 छोटी उम्र में ही एंटीबायोटिक्स का अधिक सेवन इम्यून सिस्टम को अग्नाशय पर आक्रमण करने के लिए प्रेरित करता है, जिससे शरीर में इंसुलिन के निर्माण की प्रक्रिया प्रभावित होती है। इससे डायबिटीज की आशंका बढ़ जाती है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned