होली पर होगा धन लाभ, बन रहा है विषेश योग, करें ये उपाय

Bhopal, Madhya Pradesh, India
होली पर होगा धन लाभ, बन रहा है विषेश योग, करें ये उपाय

होली के मौके पर धन लाभ के विशेष योग बनते हैं जिस दौरान अगर नीचे लिखे हुए उपाय किये जाए तो हमारी सभी आर्थिक परेशानी खत्म हो जाती है और अत्यंत धन लाभ होता है।


भोपाल। धन लाभ के लिए अकसर हम बहुत से उपाय करते हैं, कभी पूजा तो कभी व्रत। लेकिन क्या आपको पता है कि होली के मौके पर धन लाभ के विशेष योग बनते हैं जिस दौरान अगर नीचे लिखे हुए उपाय किये जाए तो हमारी सभी आर्थिक परेशानी खत्म हो जाती है और अत्यंत धन लाभ होता है। आईये पंडित गोदावरी शास्त्री से जानते हैं उन उपायों के बारे में जिसे अपनाकर हम धन प्राप्ति कर सकते हैं।

होली की रात करें ये उपाय
इस उपाय की शुरुआत होली की रात से होती है। इस रात को आप किसी एकांत जगह पर कुश के आसन बना लें और उस पर बैठकर सामने लकड़ी की चौकी पर काला कपड़ा बिछाकर ताम्रपत्र पर बना तंत्र रक्षा ताबीज रखकर नीचे दिए हुए मंत्र का जाप करें। ध्यान रखें कि इस मंत्र को सिद्ध करने के लिए आपके इसकी ग्यारह मालाएं हल्दी की माला के द्वारा जपकर सिद्ध करनी होंगी।


ये है मंत्र
ऊं ह्री ह्रीं क्लिंम...यही वो मंत्र है जिसके जप से आपको धन का लाभ होगा। इस मंत्र के जाप के बाद ताबीज़ को काले धागे में डालकर गले में पहन लें। इस मंत्र को रक्षा के नजरिए से बहुत ही उपयोगी माना जाता है। अगर किसी व्यक्ति को ऊपरी बाधाएं आ रही हैं तो इस मंत्र से उससे मुक्ति पाई जा सकती है।

ये मंत्र भी देगा लाभ
ऊं नमो धनदाय स्वाहा...यह मंत्र भी होली के विशेष योग पर धान प्राप्ति के लिए जपा जाता है। इस मंत्र का जाप करने के लिए आप होली की रात को अपने घर में ही किसी एकांत जगह पर बैठकर इस मंत्र का जप कमल गट्टे की माला से करें।

राजकार्य में सफलता
राजकार्य में सफलता पाने के लिए चौराहे पर हो रहे होलिका दहन के पास जाकर उसके सात फेरें करें और हर एक फेरा पूरा करने के बाद आक का एक टुकड़ा उसमें फेंक दें। ध्यान रखें कि यह उपाय तब ही करें जब होलिका में अग्नि प्रज्जवलित नहीं हो। इसके साथ ही यह भी ध्यान रखें कि जब भी आक का टुकड़ा फेकें तो वह होली में ही जाकर गिरे ना कि उसके बाहर। ज्योतिष की मानें तो इस उपाय को करने से राजपक्ष में आ रही परेशानियां दूर हो जाती हैं।


दुर्घटना से बचाएगा ये उपाय
दुर्घटना से बचने के लिए आप होलिका दहन की रात को आग लगने से पहले अपने हाथ में पांच काली गुज्जा लेकर होलिका की पांच परिक्रमा करें। परिक्रमा करने के बाद होलिका की ओर पीठ कर लें और पांचों को सिर के ऊपर पांच बार फेरकर हाथों को सिर के ऊपर उठाकर होलिका में फेंक दें।

इस मंत्र से मिलेगा स्वास्थ्य लाभ
अगर आप अपने स्वास्थ्य लाभ के लिए उपाय कर रहे हैं तो होलिका दहन के समय होली की ग्यारह परिक्रमा करते हुए मन ही मन 'देहि सौभाग्यमारोग्यं, देहि मे परमं सुखं। रुपं देहि, जयं देहि, यशो देहि, द्विषो जहि।।' मंत्र का जाप करें। लेकिन इस मंत्र के जाप करने से पहले ध्यान रखें कि होली के बाद भी इस मंत्र का ग्यारह बार जाप करना पड़ता है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned