आप भी नहाते हैं 8 बजे के बाद तो सम्हल जाएं और पढ़ें यह खबर

pankaj shrivastava

Publish: Jul, 13 2017 08:55:00 (IST)

Bhopal, Madhya Pradesh, India
आप भी नहाते हैं 8 बजे के बाद तो सम्हल जाएं और पढ़ें यह खबर

स्नान कब और कैसे करे घर की समृद्धि बढ़ाना हमारे हाथ में है। खासकर जो घर की स्त्री होती थी। चाहे वह स्त्री मां के रूप में हो, पत्नी के रूप में हो, बहन के रूप में हो।

भोपाल। दिन शुरुआत यदि नहाने के साथ करते हैं तो अच्छा है लेकिन यदि आप उन लोगों में से हैं जो बेड टी पीने के बाद अखबार पढ़ते हैं और नहाने के बारे में सोच-सोचकर सुबह के 8 बजा लेते हैं तो आपके लिए यह जानना जरूरी के यह आदत अंजाने में आपका नुकसान करवा रही है। दरअसल शास्त्रों में नित्यक्रिया के लिए समय निर्धारित किया गया है। पंडिज जगदीश शर्मा से जानिए कौन सा सही समय है नहाने का...

मुनि स्नान- यह स्नान सुबह सूरज निकलने से पूवज़् 4 से 5 बजे के बीच किया जाता है। मुनि स्नान सर्वोत्तम है। इस दौरान स्नान करने वाले जातक के घर में सुख-शांति, समृद्धि, विद्या, बल, आरोग्य, चेतना सदैव बनी रहती हैं।

देव स्नान- यह स्नान सुबह 5 से 6 बजे के बीच किया जाता है। देव स्नान उत्तम है। इस बीच स्नान करने वाले जातक के जीवन में यश, कितीज़्, धन, वैभव, सुख-शान्ति, संतोष का हमेशा वास रहता है।

मानव स्नान- यह स्नान सुबह 6 से 8 बजे के बीच किया जाता है। इस दौरान स्नान करने वालों को काम में सफलता, अच्छा भाग्य, अच्छे कर्मो की सूझ ता मिलती ही है, साथ ही परिवार में एकता भी बनी रहती है।

राक्षसी स्नान- यह स्नान सुबह 8 बजे के बाद किया जाता है। किसी भी मानव को आठ बजे के बाद स्नान नहीं करना चाहिए। यह स्नान हिन्दू धर्म में निषेध है। इस दौरान स्नान करने वालों के घर में दरिद्रता, हानि, कलेश, धन हानि, परेशानी, प्रदान करता है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned