व्यापमं SCAM पर बीजेपी विधायक ने फिर घेरा शिवराज को, पढ़ेंं चौंकाने वाले TWEET

Bhopal, Madhya Pradesh, India
 व्यापमं SCAM पर बीजेपी विधायक ने फिर घेरा शिवराज को, पढ़ेंं चौंकाने वाले TWEET

प्रहलाद ने चर्चित डंपर घोटाले को भी उठाया था। वे पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती के करीबी माने जाते थे। डंपर घोटाले की शिकायत उन्होंने लोकायुक्त में भी की थी। 

भोपाल। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की समन्वय बैठक में प्रदेश में ब्यूरोक्रेसी के हावी होने की बात कहकर सरकार को कठघरे में खड़ा कर चुके भाजपा सांसद प्रहलाद सिंह पटेल ने अब व्यापमं पर चुप्पी तोड़ी है। उन्होंने बिना किसी का नाम लिए इस घोटाले पर न केवल शिवराज सरकार को घेरा है, बल्कि इस घोटाले पर अब तक हुई कार्रवाई पर भी सवालिया निशान लगा दिए हैं। पटेल ने एक के बाद एक किए छह ट्वीट से व्यापमं घोटाले को लेकर फिर से सियासत गरमा दी है। शुक्रवार सुबह भी उन्होंने तीन ट्वीट किए...




आज सुबह के ट्वीट
पहला: मुझसे व्यापमं पर ट्वीट करने पर आशय पूछा गया। सत्ता परिवर्तन की नियत से सोचने पर ढेर आशय निकलेंगे, पर व्यवस्था परिवर्तन के लिए मेरा आशय साफ  है।


 vyapam scam
दूसरा: व्यापमं मामले में जिनने रिश्वत दी, उनको सजा मिली पर जिनने रिश्वत ली, रिश्वत देने प्रेरित किया उनको कब सजा मिलेगी, उसका इंतजार है। तब न्याय पूरा होगा।
तीसरा: हम अपनी भविष्य की पीढ़ी को लुटने से न बचा सके ऐसा विफल प्रशासनिक ढांचा, राजनैतिक दृष्टि से कैसे ओझल हो गया यह आत्मावलोकन जरूरी है।




एक दिन पहले किए थे ये ट्वीट 
पहला : व्यापमं पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर न खुश हो सकते हैं और न ही दुख व्यक्तकर सकते हैं। वास्तविक अपराधियों को सजा मिलने का इंतजार है। 
दूसरा : व्यापमं पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले से चिकित्सा शिक्षा क्षेत्र की तीन पीढिय़ां प्रभावित हुई हैं। इसकी भरपाई पर मप्र के सभी लोगों को विचार करना होगा। 
तीसरा : व्यापमं पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला हमारी प्रशासनिक कार्रवाइयों और राजनीतिक इच्छाशक्ति की समीक्षा के लिए मजबूर करता है।


 vyapam scam



डंपर घोटाला उठाया था
प्रहलाद ने चर्चित डंपर घोटाले को भी उठाया था। वे पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती के करीबी माने जाते थे। डंपर घोटाले की शिकायत उन्होंने लोकायुक्त में भी की थी। आरोप साबित नहीं हुए थे।




इनका कहना है...
सरकार ने व्यापमं में दृढ़ इच्छाशक्ति से कार्रवाई की है। मुख्यमंत्री ने ही सीबीआई जांच शुरू करवाई थी। ये मामला सीबीआई और सुप्रीम कोर्ट के पास है। कोई दोषी घोटाले में नहीं बचेगा। भाजपा को कोर्ट पर पूरा भरोसा है। 
- रजनीश अग्रवाल, प्रदेश प्रवक्ता, भाजपा 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned