लो! आ गया 'नेकी का पेड़', यहां खाना भी मिलेगा और मरीजों को खून भी

Bhopal, Madhya Pradesh, India
लो! आ गया 'नेकी का पेड़', यहां खाना भी मिलेगा और मरीजों को खून भी

स पेड़ की खासियत है कि अब आप पहनने के लिए कपड़े, खाना रखने के लिए बर्तन, खाने के लिए रोटी और ओढऩे के लिए कंबल के साथ-साथ बीमार को खून भी दे सकेंगे।

भोपाल/सीहोर। अब तक हम सिर्फ नेकी की दीवार के बारे में ही सुनते आए है, लेकिन इस बार 'नेकी की दीवार' नहीं बल्कि 'नेकी का पेड़' बनाया गया है। इस पेड़ की खासियत है कि अब आप पहनने के लिए कपड़े, खाना रखने के लिए बर्तन, खाने के लिए रोटी और ओढऩे के लिए कंबल के साथ-साथ बीमार को खून भी दे सकेंगे।

बीमार व्यक्ति को खून उपलब्ध कराने के लिए आठ सदस्यों की टीम बनाई गई है । यह टीम जिला अस्पताल में जरूरतमंद लोगों को ब्लड डोनेट करेगी। इस टीम में विभिन्न ब्लड ग्रुप के सदस्य मौजूद होंगे। अगर नेकी के पेड़ की टीम से बीमार व्यक्ति का ब्लड ग्रुप मैच नहीं करता है तो टीम के सदस्य अपने दोस्तों और रिश्तेदारों की मदद से जरूरतमंद की खून की कमी को पूरा करेंगे।


neki ka ped

खाना भी कराया जाएगा उपलब्ध
ब्लड डोनेट करने वाली इस टीम में एसडीएम राजकुमार खत्री, तहसीलदार संतोष मुदगल, पटवारी संजय राठौर के साथ-साथ कुछ वकीलों के नाम भी जुड़े हैं। नेकी के पेड़ के बारे में पूछे जाने पर एसडीएम राजकुमार खत्री ने बताया कि नेकी का पेड़ अब भूखे का पेट भरने का काम भी करेगा। नेकी के पेड़ पर एक वर्तन में रोटी और अचार भी रखा जाएगा। यदि कोई भूखा व्यक्ति भोजन करना चाहता है तो वह खुद भोजन उठाकर खा सकता है।


इसके साथ ही उन्होंने बताया कि नेकी के पेड़ के माध्यम से नेकी की कोचिंग और नेकी के सलाहकार टीम भी बनाई जा रही है। टीम में कुछ वकील भी शामिल किए जाएंगे जो कि बीपीएल हितग्राहियों के काम करने का कोई चार्ज नहीं लेंगे। इस पेड़ का मुख्य उद्देश्य पीडि़त व्यक्ति की मदद करना है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned