MP की राजधानी में हर 31वां शख्स महिलाओं के लिए है खतरा

rishi upadhyay

Publish: Jan, 13 2017 07:05:00 (IST)

Bhopal, Madhya Pradesh, India
MP की राजधानी में हर 31वां शख्स महिलाओं के लिए है खतरा

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर चौंकाने वाले आंकड़े सामने आए हैं। इन आंकड़ों के मुताबिक राजधानी का हर 31वां शख्स महिलाओं के साथ छेडखानी करता है।

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर चौंकाने वाले आंकड़े सामने आए हैं। इन आंकड़ों के मुताबिक राजधानी का हर 31वां शख्स महिलाओं के साथ छेडखानी करता है। पुलिस द्वारा महिलाओं की सुरक्षा को लेकर चलाए गए एक अभियान के बाद ये आंकड़े निकल कर सामने आए हैं। इस दौरान 7 हजार से ज्यादा स्पॉट पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने 37 हजार से ज्यादा छेड़खानी करने वालों को रंगे हाथ पकड़ा। इसके बाद आंकड़ों से एक अनुमान निकल कर सामने आया कि मध्य प्रदेश की राजधानी में हर 31वां शख्स छेड़छाड़ की घटनाओं को अंजाम देता है।




भोपाल पुलिस ने महिलाओं की सुरक्षा को लेकर हाल ही में एक अभियान चलाया था। 16 दिनों तक चलने वाले इस अभियान के बाद ही ये रोचक तथ्य सामने आया है। 16 दिसम्बर से 31 दिसम्बर 2016 तक चलाए गए इस अभियान के दौरान पुलिस ने 7 हजार 340 जगहों पर महिलाओं से हो रही छेड़खानी रोकने के लिए मजनुओं के खिलाफ कार्रवाई करना शुरू किया था।


eveteasing


तमाम जगहों पर धरपकड़ के दौरान पुलिस ने कुल 37 हजार 761 मनचलों को पकड़ा है। इनमें 96 के खिलाफ पुलिस ने मामले दर्ज किए हैं, वहीं 36 हजार से ज्यादा को सिर्फ समझाइश देकर छोड़ दिया। 




मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में पुरुष आबादी तकरीबन 12 लाख के आसपास है। वहीं तमाम स्पॉट्स पर 37 हजार से ज्यादा मनचलों को पकड़ा गया है। इस हिसाब से लगभग हर 31वां पुरुष छेड़छाड़ की घटनाओं को अंजाम दे रहा है। यह अभियान अयोध्या नगर सीएसपी, रश्मि खरिया के नेतृत्व में 2016 में 16 दिसंबर से 31 दिसंबर के मध्य भोपाल के सभी इलाकों में चलाया गया था।


eveteasing


इन इलाकों में होती है सबसे ज्यादा छेड़छाड़
राजधानी के सबसे पॉश और अतिसुरक्षित कहे जाने वाले इलाके एमपीनगर और हबीबगंज संभाग में महिलाओं से सबसे ज्यादा छेड़छाड़ होती है। इसी तरह पिपलानी, अशोका गाडज़्न, कोहेफिजा समेत 68 हॉट स्पॉट चिंहित किए गए हैं। इसके अलावा 53 स्थान पर अंधेरा होने के कारण छेड़छाड़ की घटनाएं ज्यादा होती हैं।




अभियान के दौरान सामने आया कि सबसे ज्यादा छेड़छाड़ स्कूल, कॉलेज, हॉस्टल, मॉल और कोचिंग वाले इलाके में होती हैं। यहां पर महिलाओं और युवतियों को अधिक आना जाना होता है। ऐसे में आरोपी दुकानों और गाडिय़ों पर बैठकर उन्हें परेशान करते हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned