kachua ring kis ungli me pahne - इस उंगली में पहनेंगे कछुआ रिंग, तभी खुलेगा किस्मत का ताला

rishi upadhyay

Publish: Jul, 08 2017 12:51:00 (IST)

Bhopal, Madhya Pradesh, India
kachua ring kis ungli me pahne - इस उंगली में पहनेंगे कछुआ रिंग, तभी खुलेगा किस्मत का ताला

ज्योतिष शास्र्त्र में बताया गया एक उपाय आज हम आपको बताने जा रहे हैं। ये उपाय है कछुए की अंगूठी को धारण करना। इस बारे में बहुत से लोग जानते हैं, लेकिन बहुत कम लोग ये जानते हैं कि ऐसे कैसे धारण करना चाहिए।

भोपाल। कहते हैं कि मेहनत के साथ साथ जिंदगी में किस्मत भी जुड़ जाए तो इंसान क्या कुछ नहीं पा सकता। मेहनत तो हमारे हाथ में है, लेकिन भाग्य को लेकर कई बार हम निराशा में चले जाते हैं। लेकिन अगर हम कहें कि आप अपना भाग्य खुद बदल सकते हैं तो क्या आप ऐसा करना चाहेंगे। जी हां, ज्योतिष शास्त्र में ऐसे कई आसान से उपाय हैं जिनसे आप अपनी किस्मत के बंद ताले को खोल सकते हैं। 


ज्योतिष शास्र्त्र में बताया गया एक उपाय आज हम आपको बताने जा रहे हैं। ये उपाय है कछुए की अंगूठी को धारण करना। इस बारे में बहुत से लोग जानते हैं, लेकिन बहुत कम लोग ये जानते हैं कि ऐसे कैसे धारण करना चाहिए। यदि आप भी ये नहीं जानते तो हम आपको बताने जा रहे हैं कि कैसे कछुए की अंगूठी को धारण करें और किस उंगली में इसे पहनना चाहिए। 


बहुत से लोग कछुए की अंगूठी को फैशन के लिए पहनते हैं, लेकिन हम आपको बता दें कि वास्तुशास्त्रियों के मुताबिक इसे पहनने से बिजनेस, आत्मविश्वास और सेहत हमेशा ठीक रहती है। घर में पैसे की कमी नहीं होती है। लेकिन ये सब कुछ आप तब तभी पा सकते हैं जब आपको पता हो कि कछुए की अंगूठी को पहनने का सही विधान क्या है। 


इस तरह पहनें कछुए की अंगूठी, मिलेगा लाभ
सबसे पहले तो कछुए की अंगूठी को पहनते समय आपको इसके सिर को लेकर ध्यान देना है। कछुए के सिर वाला भाग पहनने वाले की तरफ होना चाहिए। इस से असीम कृपा मिलती है। इस तरह से अंगूठी पहनने से ये पैसे को अपनी तरफ आकर्षित करता है।


इसके अलावा ये भी जानना जरूरी है कि कछुए की अंगूठी को किस उंगली में पहनना चाहिए। हम आपको बता दें कि कछुए की अंगूठी को सीधे हाथ की मध्यमा या तर्जनी उंगली में पहनना चाहिए। इसके अलावा कछुए की अंगूठी हमेशा शुक्रवार को खरीदें।


शुक्रवार को अंगूठी खरीदने के बाद लक्ष्मी जी के सामने दूधिया पानी से धोकर अगरबत्ती जलाएं। इसके बाद अंगूठी को धारण करें। कछुए वाली अंगूठी को आप अपने हिसाब से डिजायन भी करा सकते हैं। यदि आप चाहें तो इसमें चांदी, सोने में जडे नग द्वारा भी बनवा सकते हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned