MP: यहां नशे की हालत में होते हैं सबसे ज्यादा हादसे

rishi upadhyay

Publish: Oct, 19 2016 01:24:00 (IST)

Bhopal, Madhya Pradesh, India
MP: यहां नशे की हालत में होते हैं सबसे ज्यादा हादसे

नशे ही हालत में गाड़ी चलाते हुए दुर्घटना के बाद होने वाली मौतों में मध्य प्रदेश, देश में पहले स्थान पर है। पिछले पांच साल में सबसे ज्यादा हादसे पिछले साल ही हुए हैं।



भोपाल। नशे ही हालत में गाड़ी चलाते हुए दुर्घटना के बाद होने वाली मौतों में मध्य प्रदेश, देश में पहले स्थान पर है। चौंकाने वाली  बात ये है कि पिछले पांच साल में सबसे ज्यादा हादसे पिछले साल ही हुए हैं। ऐसे हादसों की संख्या प्रदेश में 50 हजार से भी ज्यादा है। मध्य प्रदेश के शहरों में इंदौर की सड़कों पर सबसे ज्यादा हादसे हुए हैं, वहीं ऐसे मामलों में मौतों की संख्या में भी इंदौर ही सबसे ऊपर है। 


5 साल के आंकड़ों के आधार पर आई रिपोर्ट
सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय की एक रिपोर्ट से इस तथ्य का खुलासा हुआ है। बीते 5 सालों के आंकड़ों पर आधारित इस रिपोर्ट में ड्रिंक एंड ड्राइव के कारण हुए हादसों और मौतों की लिस्ट में मध्य प्रदेश सबसे ऊपर है। वर्ष 2010 से 2014 तक की इस रिपोर्ट में ड्रिंक एंड ड्राइव के कारण हए हादसों में 21 हजार 325 लोगों की मौत हो गई।

ये संख्या बाकी राज्यों से कहीं ज्यादा है। इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर उत्तर प्रदेश है, जहां पर इतने ही समय में 14 हजार 550 लोग ड्रिंक एंड ड्राइव के कारण हुए हादसों का शिकार हुए।


drink and drive


बीते साल 50 हजार से ज्यादा हादसे
राजमार्ग मंत्रालय की ही एक अन्य रिपोर्ट के मुताबिक साल 2015 में मध्य प्रदेश में शराब के नशे में गाड़ी चलाने के कारण हुए हादसों की कुल संख्या 54 हजार 947 है। इन हादसों में 9 हजार 314 लोगों की मौत हो गई। वहीं 55 हजार 815 लोग घायल हुए। कुल मामलों में 17 प्रतिशत हादसे बेहद गंभीर थे। 

साल 2015 में मध्य प्रदेश से गुजरने वाले नेशनल हाइवे पर 11 हजार 988 हादसे हुए, जिनमें 2287 लोगों ने अपनी जान गंवाई, जबकि 10 हजार 260 लोग घायल हुए। वहीं स्टेट हाइवे पर 13 हजार 166 हादसे हुए, जिनमें 2868 लोगों की जान गई।


सड़क हादसों को लेकर मध्य प्रदेश की स्थिति इस तथ्य से समझी जा सकती है कि देश भर में होने वाली कुल सड़क दुर्घटनाओँ में से 11 प्रतिशत सिर्फ मध्य प्रदेश में ही होती हैं। यही नहीं, ब्लैक स्पॉट यानि दुर्घटना आशंकित स्थानों वाली सूची में भी मध्य प्रदेश 6वें नंबर पर है। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय कि रिपोर्ट बताती है कि सबसे ज्यादा ब्लैक स्पॉट मध्य प्रदेश से गुजरने वाले नेशनल हाइवे पर चिह्नित किए गए हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned