पेड़ की नीचे बरसी नेकी, कलेक्टर बोले - पत्रिका ने फैलाईं नेकी के पेड़ की शाखा

Bhopal, Madhya Pradesh, India
पेड़ की नीचे बरसी नेकी, कलेक्टर बोले - पत्रिका ने फैलाईं नेकी के पेड़ की शाखा

नेकी के पेड़ के नीचे उमड़ी जरूरत मंदों की भीड़ को मकर संक्रांति के मौके पर भोपाल से सीधे प्रसारण के माध्यम से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने संबोधित किया।



सीहोर। नेकी के पेड़ के नीचे शनिवार को नेकी की ऐसी बरसात हुई कि हजारों जरूरतमंदों की जरूरत पूरी हो गई। किसी को ठंड से बचने के लिए कपड़े मिले तो किसी को खाना रखने के लिए बर्तन मिल गए। नेकी के पेड़ के नीचे उमड़ी जरूरत मंदों की भीड़ को मकर संक्रांति के मौके पर भोपाल से सीधे प्रसारण के माध्यम से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने संबोधित किया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल के टीटी नगर स्टेडियम से प्रदेशवासियों से अपील की है कि वह हैप्पीनेस मंत्रालय की इस पहल में हाथ बटाएं, जरूरत मंदों की मदद करें।


इस बारे में जानकारी देते हुए कलेक्टर डा. सुदाम खाडे ने बताया कि सीहोर तहसील परिसर में लगाए गए नेकी के पेड़ की शाखाएं इतनी फैल रही हैं कि यहां जरूरत मंद को तन ढंकने के लिए कपड़ा, भूखे को पेट भरने के लिए रोटी और बीते रोज एक जरूरतमंद बर्तन साफ करने वाली महिला को दो हजार रुपए महिने की नौकरी भी मिली है। उन्होंने बताया कि नेकी के पेड़ का मुख्य उद्देश्य जरूरतमंद की मदद करना है। 

neki ka ped

नौकरी मिलने पर खुशी नहीं नहीं रहा ठिकाना
कोली मोहल्ला निवासी प्रिया शाक्य परिवार की आर्थिक स्थिति कमजोर होने और सिर पर दो बच्चों के लालन-पालन की जिम्मेदारी के चलते दो घरों में बर्तन साफ करने का काम करती हैं। प्रिया ने बताया कि दो घर में काम करने से उसे 700 रुपए महीना मिलता है, जिससे वह घर चलाती है। एमकॉम, पीजीडीएस की डिग्री कर चुकी प्रिया शुक्रवार को ठंड से बचने के लिए कुछ गर्म कपड़े लेने तहसील परिसर में लगे नेकी के पेड़  पर पहुंची। नेकी के पेड़ का मैनेजमेंट संभाल रही समिति ने तय किया कि प्रिया दो हजार रुपए महीने में नौकरी करेंगी। 


कलेक्टर बोले - नेकी के पेड़ की सफलता में पत्रिका का योगदान 
नेकी के पेड़ के नीचे शनिवार को करीब एक हजार लोग पहुंचे। यहां से जरूरतमंदों ने अपनी जरूरत की सामग्री प्राप्त की। इस दौरान बातचीत में कलेक्टर डा. सुदाम खाडे ने कहा कि सीहोर में नेकी के पेड़ की सफलता में पत्रिका का योगदान है। लोग नेगेटिव लिखते हैं, लेकिन पत्रिका ने नेकी के पेड़ को लेकर पॉजीटिव खबरें प्रकाशित कर उसकी शाखाओं को फैलाने में अपना योगदान दिया है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned