मर्डर केस से अमित शाह को बचाने हुई थी BJP में मेरी वापसी

Bhopal, Madhya Pradesh, India
मर्डर केस से अमित शाह को बचाने हुई थी BJP में मेरी वापसी

देश के जाने माने वकील और भाजपा से निष्कासित नेता रामजेठमलानी ने शुक्रवार को फिर विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा कि मुझे भाजपा में वापस इसलिए बुलाया गया था कि मर्डर केस के आरोप में फंसे अमित शाह को इस केस से बचाना था।


भोपाल। देश के जाने माने वकील और भाजपा से निष्कासित नेता राम जेठमलानी ने शुक्रवार को फिर विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा कि मुझे भाजपा में वापस इसलिए बुलाया गया था कि मर्डर केस के आरोप में फंसे अमित शाह को इस केस से बचाना था।

जेठमलानी शुक्रवार सुबह भोपाल के नूर-उस-सबाह होटल में पत्रकारों को संबोधित कर रहे थे। वे लॉ यूनिवर्सिटी में आयोजित मूट कोर्ट कार्यक्रम में हिस्सा लेने आए हुए हैं।




उन्होंने भाजपा अध्यक्ष समेत प्रधानमंत्री मोदी पर भी अनेक आरोप लगाए। उन्होंने कहा है कि मुझे 2004 से 2019 तक के लिए भाजपा से निकाल दिया गया था। इसके बाद 2010 में मुझे भाजपा में वापसी का न्योता मिला। लेकिन, मैं भाजपा में वापसी पर खुश था, लेकिन बाद में मुझे यह बात पता चली कि मुझे भाजपा के वर्तमान राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की पैरवी करने के लिए वापस पार्टी में लिया गया था। उस समय शाह मर्डर केस में आरोपी थे।

मोदी वायदा खिलाफ- जेठमलानी
जेठमलानी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील की कि मुझे आप से कुछ नहीं चाहिए। आप जनता से किया वादा पूरा करें। फिलहाल मोदी अपने किए वायदों को पूरा करने में फैल साबित हुए हैं।

जेठमलानी ने कहा कि जिस प्रकार मनमोहन सिंह पी. चिदम्बरम के जाल में उलझे हुए थे, उसी प्रकार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वित्तमंत्री जेटली के षड्यंत्र में फंस गए हैं।

प्रमोशन में आरक्षण पर बोले जेठमलानी
मध्यप्रदेश के प्रमोशन में आरक्षण के मुद्दे पर सरकार के खिलाफ सपाक्स की ओर से केस लड़ रहे अधिवक्ता राम जेठमलानी ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट भले ही सपाक्स के फेवर में फैसला सुना दे, लेकिन, इसका स्थायी हल बैठकर ही निकल पाएगा।




Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned