MP से बन सकता है अगला राष्ट्रपति, इन नामों पर हो रही चर्चा

Bhopal, Madhya Pradesh, India
MP से बन सकता है अगला राष्ट्रपति, इन नामों पर हो रही चर्चा

इंदौर से सांसद एवं लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन, भोपाल रियासत में जन्मी नजमा हेपतुल्ला और विदिशा से सांसद सुषमा स्वराज का नाम संभावित प्रत्याशियों में माना जा रहा है।


भोपाल/नई दिल्ली। जुलाई में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव को लेकर अभी से नामों पर चर्चाएं शुरू हो गई है। इस बार किसी महिला को राष्ट्रपति बनाए जाने की चर्चा ज्यादा है। खबर है कि इन महिलाओं में पहले से चर्चाओं में चल रहे मध्य प्रदेश की दो महिला नेताओं में अलावा एक और महिला नेता का नाम शुक्रवार को अचानक से सुर्ख़ियों में आ गया। ये नाम MP की विदिशा संसदीय सीट से सांसद सुषमा स्वराज का है। इससे पहले इंदौर से सांसद एवं लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन, भोपाल रियासत में जन्मी नजमा हेपतुल्ला और विदिशा से सांसद सुषमा स्वराज का नाम संभावित प्रत्याशियों में माना जा रहा है।

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के 24 जुलाई को रिटायर हो रहे हैं, इससे पहले ही चुनाव कराना जरूरी है। राष्ट्रपति पद की रेस में कई नेता हैं। लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी से लेकर सुषमा स्वराज तक कई नेता रेस में है। सूत्रों के मुताबिक इस बार प्रतिभा पाटिल के बाद किसी महिला को राष्ट्रपति बनाया जा सकता है। ऐसे में मध्यप्रदेश से तीन नाम प्रबल दावेदारों में उभर रहे हैं।

MP से ही हो प्रत्याशी
मधयप्रदेश भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता राहुल कोठारी के मुताबिक यदि मध्यप्रदेश को प्रतिनिधित्व मिलता है तो यह गौरव की बात है। सुमित्रा  महाजन, सुषमा स्वराज और नजमा हेपतुल्ला तीनों ही वरिष्ठ महिला है। कोठारी ने यह भी कहा कि हमें भी मध्यप्रदेश से कोई नाम तय होने की उम्मीद है।

दौड़ से सबसे आगे सुषमा स्वराज
सूत्रों के मुताबिक यह नाम मध्यप्रदेश से तय हो सकते हैं। इनमें विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का नाम फिलहाल आगे हैं। इन दो नामों के अलावा इंडिया की सबसे वरिष्ठ सांसद और मध्यप्रदेश में ताई के नाम से मशहूर सुमित्रा महाजन का भी नाम चर्चा में है। आपको बता दें कि सुमित्रा महाजन फिलहाल लोकसभा अध्यक्ष हैं और मध्यप्रदेश की राजनीति में अच्छी खासी पैठ रखती हैं।

इसलिए चर्चा में है सुमित्रा का नाम
सुमित्रा महाजन पिछले आठ बार से मध्य प्रदेश के इंदौर लोकसभा क्षेत्र से चुनाव जीत रही हैं। उनको लोग प्यार से ताई (मराठी में बड़ी बहन) कहते हैं। महाजन को उनके मित्रवत व्यवहार के लिए जाना जाता है। हर राजनीतिक दल में उनके अच्छे मित्र हैं। 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में उन्होंने चार लाख से ज्यादा वोटों से जीत हासिल की थी। मीरा कुमार के बाद लोकसभा अध्यक्ष बनने वाली वे देश की दूसरी महिला हैं। संघ से उनके अच्छे समीकरण हैं।

क्या खास है इन नामों में
सुषमा स्वराज
मोदी सरकार में 'अच्छी मंत्री' हैं। सुषमा स्वराज की  विदेश मंत्री रहते काफी प्रशंसा होती रही है। वे कई देशों में फंसे भारतीयों को सुरक्षित निकालने में कई बार सफल हुई हैं। उनकी पदोन्नति से संघ की महिला विरोधी छवि का भ्रम भी टूटेगा। उनका स्वास्थ्य चिंता का कारण है। कुछ का कहना है कि उन्हें इस पद पर पहुंचा कर 'उचित आराम' दिया जा सकता है। 

सुमित्रा महाजन
इंदौर से लगातार भाजपा की सीट को बनाए रखा। साफ-छपी, दोस्ताना व्यवहार। मराठी समाज की महिला होने के साथ-साथ वर्तमान में लोकसभा में स्पीकर के पद पर कार्यरत। कभी विवादों में नहीं रही।

नजमा हेपतुल्ला
भोपाल रियासत में जन्मी नजमा हेपतुल्ला केंद्र में मंत्री भी रह चुकी है। यह अल्पसंख्यक मामलों की मंत्री रह चुकी हैं, फिलहाल मणिपुर की राज्यपाल हैं।

यह भी है चर्चा में
1.लालकृष्ण आडवाणी, सुमित्रा महाजन, सुषमा स्वराज, अमिताभ बच्चन, वैंकया नायडू, नजमा हेपतुल्ला, मुरली मनोहर जोशी, झारखंड की राज्यपाल द्रौपदी मुर्मु, महाराष्ट्र के राज्यपाल विद्यासागर राव,  हरियाणा के राज्यपाल कप्तान सिंह सोलंकी।

यह भी पढ़ें

यह भी पढ़ें
ONION

यह भी पढ़ें
april

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned