बेवफा प्रेमिका ने उतारा प्रेमी को मौत के घाट, उम्रकैद

Sumeet Pandey

Publish: Apr, 21 2017 01:13:00 (IST)

bhopal
बेवफा प्रेमिका ने उतारा प्रेमी को मौत के घाट, उम्रकैद

नारियलखेड़ा में 21 दिसंबर 2012 में की गई थी निर्मम हत्या

भोपाल. साथियों के साथ मिलकर पूर्व प्रेमी की घर बुलाकर निर्मम हत्या करने के मामले मेें अदालत ने दीपशिखा उर्फ पिंकी श्रीवास्तव और उसके साथी सौदान सिंह को उम्रकैद-जुर्माने की सजा सुनाई है। साजिश में शामिल सह आरोपी नेहा लचौरिया और रामबाबू को पांच साल के कारावास की सजा सुनाई गई। अपर सत्र न्यायाधीश वीके पालौदा ने यह फैसला सुनाया।
मामला गौतम नगर थाने का है। सरकारी वकील राकेश शेजवार ने बताया कि मूलत: सीहोर जिले के अहमद नगर निवासी दीपशिखा श्रीनगर कॉलोनी, नारियलखेड़ा में किराए के मकान में रह रही थी। दीपशिखा से मिलने पूर्व प्रेमी जितेन्द्र शर्मा अहमद नगर से भोपाल आता था। यह बात दीपशिखा के साथी सौदान सिंह को पसंद नहीं थी। इसके चलते दोनों ने अन्य आरोपियों के साथ मिलकर 21 दिसंबर 2012 की रात जितेन्द्र को घर बुलाकर निर्मम हत्या कर दी थी। पुलिस ने जितेन्द्र की लाश दीपशिखा के नारियलखेड़ा स्थित घर से बरामद की थी।

माशिमं के भ्रष्ट क्लर्क को तीन साल की जेल
भोपाल. मार्कशीट में सुधार कराने के एवज में दो हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़े गए माध्यमिक शिक्षा मंडल के क्लर्क लक्ष्मण तिवारी को अदालत ने तीन साल के सश्रम कारावास और चार हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई है। विशेष सत्र न्यायाधीश लोकायुक्त काशीनाथ सिंह ने यह फैसला सुनाया। तिवारी ने 12वीं की मार्कशीट में अंकित गलत जन्मतिथि में सुधार के लिए रिश्वत मांगी थी। लोकायुक्त पुलिस के अभियोजक विवेक गौड़ ने बताया कि प्रकाश लखेरा के बेटे प्रदीप की मार्कशीट में सुधार करने के लिए तिवारी ने दो हजार की रिश्वत मांगी थी। शिकायत मिलने पर लोकायुक्त पुलिस की टीम ने 18 जून 2015 को लक्ष्मण तिवारी को रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा था।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned