दूध-दही व बर्तन दुकानों से 27 गैस सिलेंडर जब्त

Kajal Kiran Kashyap

Publish: Apr, 21 2017 12:08:00 (IST)

bilaspur
दूध-दही व बर्तन दुकानों से 27 गैस सिलेंडर जब्त

खाद्य विभाग की कार्रवाई... दुकान संचालकों के खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत प्रकरण किया गया दर्ज

बिलासपुर. दूध-दही एवं बर्तन बेचने वाले दुकानों से खाद्य निरीक्षकों की टीम ने 27 घरेलू गैस सिलेंडर जब्त किया है। विवादों में फंसे सहायक खाद्य अधिकारियों को जांच और जब्ती करने की कार्रवाई से खाद्य नियंत्रक ने दूर रखा। डिप्टी कलेक्टर व प्रभारी खाद्य नियंत्रक आशुतोष चतुर्वेदी ने सरकंडा में दो दुकानों में घरेलू गैस सिलेंडरों के व्यावसायिक उपयोग करने और बेचने की शिकायतों पर गुरुवार को जांच टीम गठित की गई। इस टीम में खाद्य निरीक्षक मनीष कुमार यादव, कौशल किशोर साहू एवं पूनम सिंह को शामिल किया गया। इस टीम ने सरकंडा में महामाया डेयरी एवं डेलीनीड्स की दुकान में जांच की। इस दुकान से 10 घरेलू गैस सिलेंडर 14 किलोग्राम एवं 6 सिलेंडर पांच किलोग्राम के जब्त किए गए। इस दुकान के संचालक प्रहलाद जायसवाल हैं। ये सभी सिलेंडर अवैध तरीके से रखे गए थे। बर्तन दुकान से 11 सिलेंडर जब्त: सरकंडा के विजय स्टील एम्पोरियम से खाद्य निरीक्षकों की टीम ने 11 घरेलू गैस सिलेंडर जब्त किए। इनमें 14 किलोग्राम के 8 सिलेंडर एवं 5 किलोग्राम के 3 सिलेंडर जब्त किए गए। इस दुकान के संचालक अंजय अग्रवाल हैं। जांच टीम ने दोनों दुकान संचालकों से कुल 27 सिलेंडर जब्त किए हैं। दोनों दुकान संचालकों के खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है।

विवादास्पद दोनों एएफओ दरकिनार
प्रभारी खाद्य नियंत्रक आशुतोष चतुर्वेदी ने दोनों सहायक खाद्य अधिकारी केके सोमवार, देवेंद्र कुमार बग्गा को इस जांच कार्रवाई से अलग रखा।  
दोनों एएफओ एवं एक खाद्य निरीक्षक निखिलेश टेम्भुरने  बिल्हा की एक गैस एजेंसी में प्रभारी खाद्य नियंत्रक की बगैर जानकारी के जांच करने पहुंच गए थे। इसकी जानकारी मिलने के बाद प्रभारी खाद्य नियंत्रक ने प्रकरण बनाने के निर्देश दिए थे। तब उस गैस एजेंसी की संचालिका के खिलाफ प्रकरण बनाया गया। गैस एजेंसी संचालिका अनुपमा दुबे ने बेवजह जांच कर प्रताडि़त करने की शिकायत प्रभारी खाद्य नियंत्रक से की थी। इसके बाद दोनों एएफओ सोमवार व बग्गा बिना अनुमति के अवकाश पर चले गए थे। लोक सुराज अभियान के दौरान कलेक्टर ने बगैर अनुमति के अधिकारियों, कर्मचारियों के अवकाश पर पाबंदी लगाई गई है। डिप्टी कलेक्टर ने दोनों एएफओ के घरों में नोटिस चस्पा करने के लिए भेजी तो वे काम पर लौटे थे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned