धान खरीदी में दलालों और बिचौलियों पर रखें नजर

Kajal Kiran Kashyap

Publish: Nov, 30 2016 11:45:00 (IST)

Bilaspur, Chhattisgarh, India
धान खरीदी में दलालों और बिचौलियों पर रखें नजर

कलेक्टर ने समय सीमा की बैठक में धान खरीदी की समीक्षा करते हुए मातहत अफसरों को बिचौलियों और दलालों पर अंकुश लगाने निर्देश दिए।

बिलासपुर. कलेक्टर ने समय सीमा की बैठक में धान खरीदी की समीक्षा करते हुए मातहत अफसरों को बिचौलियों और दलालों पर अंकुश लगाने निर्देश दिए। उन्होंने सभी संबंधित अफसरों को समर्थन मूल्य पर की जा रही धान खरीदी की सतत निगरानी करने कहा ताकि किसी प्रकार की गड़बड़ी न हो। कलेक्टर अंबलगन पी  ने कहा कि धान संग्रहण केन्द्रों में पिछले दो वर्षों की सूची के अनुसार किसानों के नाम दर्ज किए गए हैं।  उन्होंने अफसरों को मृत किसानों के नाम को तत्काल विलोपित करने कहा ताकि इस तरह की गड़बड़ी न हो। इसको लेकर किसी तरह की गड़बड़ी न हो। उन्होंने स्पष्ट तौर पर चेतावनी दी कि अवैध रूप से बिक्री के लिए आने वाले धान को तौल कराकर जमा कर लें ताकि इसे अलग से नीलाम करने की कार्रवाई की जा सके।

 साथ ही उन्होंने  सुरक्षा के मद्देनजर धान खरीदी केन्द्रों में होमगार्ड तैनात करने के निर्देश देते हुए कहा कि पिछले वर्षों की तुलना में साढ़े चार हजार से अधिक किसानों का पंजीयन हुआ है।  अत: संबंधित अधिकारी सतर्कतापूर्वक जांच कर इस संबंध में प्रतिवेदन प्रस्तुत करें। साथ ही उन्होंनेे संग्रहण केन्द्रों से समय पर उठाव सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिए ताकि ज्यादा दिन तक धान खुले में न रहे। कलेक्टर ने खराब होने पर तौल मशीन को तत्काल बदलवाने कहा।

चिल्हर की समस्या से निपटने पीओएस लगाने के निर्देश

कलेक्टर ने व्यापारिक केन्द्रों एवं शासकीय कार्यालयों में पीओएस मशीन लगाने निर्देश दिए उन्होंने कहा कि यह मशीन बैंक में आवेदन देकर प्राप्त किया जा सकता है। मशीन लगने से चिल्हर की दिक्कत दूर होगी, वहीं नकली नोटों को आसानी से पकड़ा जा सकेगा।
खुलवाएं खाते
 कलेक्टर ने विभिन्न संस्थाओं को ठेकेदारों के माध्यम से मजदूरों का अनिवार्य रूप से खाता खुलवाने और  बैंक खाता में आधार नंबर का लिंक कराने कहा ताकि  विभिन्न भुगतान बैंक के माध्यम से कराई जार सके। साथ ही किसानों को फसल बीमा कराने के लिए प्रेरित करने कहा ताकि फसल खराब होने पर उन्हें इसका लाभ मिल सके।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned