रायपुर-केंद्री छोटी रेललाइन मामले में कोर्ट में रेलवे का जवाब पेश

Kajal Kiran Kashyap

Publish: Jul, 18 2017 12:13:00 (IST)

bilaspur
रायपुर-केंद्री छोटी रेललाइन मामले में कोर्ट में रेलवे का जवाब पेश

रेलवे की ओर से पैरवी करते हुए अधिवक्ता अभिषेक सिन्हा ने कहा कि इस लाइन से रलवे को नुकसान हो रहा है

बिलासपुर. रेलवे द्वारा रायपुर से केंद्री तक जाने वाली रेललाइन को उखाडकर सड़क निर्माण मामले में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे की ओर से जवाब पेश कर दिया गया है। रेलवे द्वारा रायपुर, केंद्री रेललाइन समाप्त किए जाने को लेकर ग्रामीणों द्वारा अधिवक्ता अभ्युदय सिंह एवं रोहन कर्री के मार्फत जनहित याचिका दायर की गई थी।

कहा गया कि रेलवे एक्ट के अनुसार स्थायी रुप से रेललाइन को समाप्त नहीं किया जा सकता। पुरानी नैरो गेज लाइन को हैरिटेज मानकर इसके संरक्षित किए जाने का प्रावधान है। जबकि रेलवे द्वारा इस लाइन को पूरी तरह से बंद कर सड़क निर्माण किया जा रहा है। अधिवक्ता सिंह ने कहा कि देश में जहां कहीं भी छोटी लाइन है, उसे ब्राड गेज में परिवर्तित किया जा रहा है।

इस रेल लाइन को बंद किए जाने से माना, तेलीबांधा एवं भटगांव स्टेशन सदा के लिए बंद हो जाएंगे। वहीं रेलवे की ओर से पैरवी करते हुए अधिवक्ता अभिषेक सिन्हा ने कहा कि इस लाइन से रलवे को नुकसान हो रहा है। यहां टिकटों की मांग नहीं है तथा यात्रियों की संख्या भी पर्याप्त नहीं है। मामले की प्रारंभिक सुनवाई के बाद रेलवे को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया गया था।रेलवे ने सोमवार को अपना जवाब कोर्ट के समक्ष प्रस्तुत कर दिया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned