कम समय में लोन दिलाने के नामपर फाइनेंस कंपनी ने ठग लिए लाखों

Bilaspur, Chhattisgarh, India
 कम समय में लोन दिलाने के नामपर फाइनेंस कंपनी ने ठग लिए लाखों

दर्जन भर से अधिक लोगों ने सिविल लाइन थाने जाकर दर्ज कराई शिकायत, कंपनी फरार

बिलासपुर. बैंक से कम दस्तावेज और बगैर गारंटी आसानी से लोन दिलाने का झांसा देकर एक फाइनेंस कंपनी ने दर्जन भर से अधिक लोगों का लाखों रुपए खाकर भाग गई। वह कहती थी हम आप को घर बैठे बगैर किसी गारंटी के लोन दिलाएंगे। फाइलेंस कंपनी एसीसीएल और रेलवे के कर्मचारियों को ही अपना निशाना बनाती थी। बैंकों के झंझट से बचने के लिए लोग कंपनी के इस झांसे में भी आ गए। कंपनी लोन लोगों के नाम पर बैंकों से लोन तो निकवाती, लेकिन बहाना बनाकर उनमें से आधा या कुछ हिस्सा वह खुद रख लेती और नोटबंदी आदि का बहाना बनाकर लोगों को ऑफिस के चक्कर कटवाती रहती। पिछले दिनों फाइनेंस कंपनी ने व्यापार बिहार में खोल आपना ऑफिस बंद कर गायब हो गई, जिसके बाद मंगलवार को लोगों ने इसकी शिकायत सिविल लाइन थाने में जाकर दर्ज कराई। फिलहाल कंपनी चलाने वाले पति-पत्नी भी फरार हैं।

एसीसीएल और रेलवे के कर्मचारियों को बनाते शिकार:
दरअसल पिछले दो सालों से व्यापार बिहार में यूनिक फाइनेंस नाम से एक कंपनी चल रही थी। जिसे अब्दुल माहिर खान और उसकी पत्नी नाज खान संचालित कर रहे थे। कंपनी ने अपने यहां एजेंटों को रखा हुआ था, जो लोगों के पास खासकर रेलवे और एसीसीएल में कार्यरत कर्मचारियों के पास जाते और उन्हें किसी भी बैंक से कम समय व दस्तावेज, बगैर ब्याज व परेशानी के उनका लोक निकलवाने की बात कहते। कंपनी अपना ज्यादा काम कोरबा व आसपास के क्षेत्र में फैलाए हुए थी। कंपनी ने दर्जन भर से अधिक लोगों के बैंक से लोन तो निकालवाए, लेकिन लोन की पूरी रकम उन्हें न देकर उसमें से किसी को आधी तो किसी को उसमें से एक हिस्सा ही देते।

लोन का आधा पैसा ही देते:-
कंपनी चलाने वाले दंपति लोगों को नोटबंदी के चलते बैंक मेंपैसा न होने का और इस तरह के कई बहाने बनाकर लोगों के नाम पर निकाली गई रकम का आधा पैसा ही उन्हें देते। इस पूरे अपराध में कहीं न कहीं बैंक के लोग भी शामिल होते, जो महज कागजों को देखकर ही किसी को भी लोक की राशि दे  देते। बहाना बनाते बनाते जब काफी वक्त हो गया तो लोगों ने उनके कार्यालय में जाकर बात करनी चाही, लेकिन वहां ताला लगा हुआ था। फोन लगाने परदोनों पति पत्नी का मोबाइल भी बंद बता रहा है, जिसके बाद लोगों ने मंगलवार को सिविल लाइन थाने में अपने साथ हुई ठगी की शिकायत दर्ज कराई।



Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned