जब मौत से गुस्साएं ग्रामीणों ने पुलिस को ही खदेड़ा, फिर जाने क्या हुआ

Kajal Kiran Kashyap

Publish: Jul, 17 2017 05:58:00 (IST)

Bilaspur, Chhattisgarh, India
जब मौत से गुस्साएं ग्रामीणों ने पुलिस को ही खदेड़ा, फिर जाने क्या हुआ

चाचा के तिजनहावन से लौट रही महिला को ट्रैक्टर ने दौंरा

बिलासपुर.  मस्तूरी थाना क्षेत्र के ग्राम सरगांव के पास अपने चाचा के तिजनहावन से बाइक में लौट रही एक महिला ट्रैक्टर की चपेट में आई गई, जिससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई। गुस्साएं ग्रामीणों ने घटना स्थल पर शव को रख चक्काजाम किया और मुआवजे की मांग करने लगे। मौके पर पहुंचे पुलिस बल ने ग्रामीणों को रास्ता छोडऩे के लिए समझाइश दी, लेकिन वह नहीं मानें, जिसके बाद पुलिस ने ग्रामीणों पर लाठियां भांजी। पुलिस के बल प्रयोग से गुस्साए ग्रामीणों ने पुलिस वालोंं को ही वहां से खदेड़ दिया। ग्रामीणों को आक्रोशित देख, पुलिस को लाइन से अतिरिक्त बल मंगाना पड़ा। फिलहाल गांव में अभी स्थिति तनाव पूर्ण है।

जानकारी के मुताबिक सरगांव निवासी वंदन बाई 45 वर्ष पति मिलन पाटले चकरभाठा थाना क्षेत्र के सरवानी गांव में अपने मायके में पिछले दिनों खत्म हुए अपने चाचा के तिजनहावन में गई हुई थी। सोमवार की सुबह वह अपने भाई के साथ बाइक क्रमांक सीजी 10 एडी 3458 से सरगांव वापस आ रही थी। तभी सुबह करीब साढ़े नौ बजे सरगांव में सड़क से जा रहे ईट से भरे ट्रैक्टर क्रमांक सीजी 10 वाय 0397 को ओवर टेक करते हुए बाइक का हैण्डल ट्रैक्टर से टकरा गया, जिससे बाइक अनियंत्रित हो गई और उसमें सवार बंदन बाई गिरकर ट्रैक्टर की चपेट में आई, जिससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई। घटना के बाद टै्रक्टर चालक मौके से फरार हो गया। कुछ ही देर में वहां पर बड़ी संख्या में ग्रामीण इकठ्ठा हो गए।

पुलिस ने भांजी लाठी, तो ग्रामीणों ने उन्हें ही खदेड़ा:
घटना से गुस्साएं ग्रामीण ट्रैक्टर के मालिक कोरमी निवासी राजेश्वर यादव को मौके पर बुला कर मुआवजे की मांग करने लगे। ग्रामीणों ने शव को सड़क पर रख चक्काजाम कर दिया। सूचना पाकर मौके पर थाना क्षेत्र की पुलिस पहुंच गई। पुलिस ने ग्रामीणों को समझाइश दी, लेकिन वह अपनी मांग पर अड़े रहे। पुलिस ने ग्रामीणों को वहां से हटाने के लिए लाठियां भी भांजी, जिससे गुस्साएं ग्रामीणों ने उल्टे पुलिस को ही वहां से खदेड़ दिया। थाने की पुलिस ने कन्ट्रोल रूम पर जानकारी देकर लाइन से अतिरिक्त बल मंगाया, जिसके बाद शाम तक पूरे क्षेत्र में स्थिति तनाव पूर्ण बनी रही। शाम करीब साढ़े चार बजे शव को पीएम के लिए भेजा गया।


Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned