परीक्षा को लेकर कॉलेज नहीं गंभीर, लिखा कड़ा पत्र

Kajal Kiran Kashyap

Publish: Nov, 29 2016 01:15:00 (IST)

Bilaspur, Chhattisgarh, India
परीक्षा को लेकर कॉलेज नहीं गंभीर, लिखा कड़ा पत्र

तय कार्यक्रम के तहत इसके लिए परीक्षा फार्म भरने की अंतिम तिथि 23 नवंबर और विलंब शुल्क के साथ परीक्षा फार्म जमा कराने के अंतिम तिथि 25 नवंबर निर्धारित की गई थी।

बिलासपुर. पहली बार आयोजित की जा रही सेमेस्टर परीक्षा को लेकर कॉलेज प्रबंधन और प्रशासन गंभीर नहीं है। व्यवस्था बनाने के हिसाब से सोमवार को फार्म भेजने निर्देश दिए गए थे, परंतु सोमवार की शाम तक 64 में से 27 कॉलेजों ने ही फार्म भेजे। 37 कॉलेजों के फार्म का अता-पता नहीं है जिनमें शहर के अग्रणी कॉलेज समेत तीन कॉलेज भी शामिल हैं। यूनिवर्सिटी प्रशासन ने एेसे कॉलेजों को पत्र भेजकर कहा है कि क्या ये माना जाए कि आपके संस्थान में एक भी नियमित परीक्षार्थी नहीं है, अब इसके लिए कॉलेज प्रबंधन जिम्मेदार है। इसकी जानकारी आयुक्त उच्चशिक्षा विभाग को भेजी जा रही है।

बिलासपुर यूनिवर्सिटी ने शिक्षण सत्र 2016-17 से पीजी कोर्स में सेमेस्टर परीक्षा लागू किया है। तय कार्यक्रम के तहत इसके लिए परीक्षा फार्म भरने की अंतिम तिथि 23 नवंबर और विलंब शुल्क के साथ परीक्षा फार्म जमा कराने के अंतिम तिथि 25 नवंबर निर्धारित की गई थी। यूनिवर्सिटी प्रशासन ने सभी 64 कॉलेज प्रबंधन और प्रशासन को एक फरमान जारी कर 28 नवंबर तक परीक्षा फार्म यूनिवर्सिटी में जमा कराने निर्देश दिया था ताकि उसके हिसाब से प्रवेश पत्र और आगामी व्यवस्था बनाई जा सके। जारी फरमान के तहत सोमवार को 64 में से केवल 27 कॉलेजों ने अपने-अपने संस्थान के परीक्षार्थियों द्वारा जमा किए गए फार्मों को जमा कराया है, 37 कॉलेजों के परीक्षा फार्मों का पता नहीं है। सबसे गंभीर बात यह है कि जिले के अग्रणी कॉलेज शासकीय ई राघवेंद्र राव साइंस कॉलेज सरकंडा और यूनिवर्सिटी से चंद कदम की दूरी पर होने के बावजूद डीपी विप्र और सीएमडी कॉलेज प्रबंधन ने भी अभी तक परीक्षा फार्म नहीं भेजे हैं, जिसको लेकर यूनिवर्सिटी प्रशासन ने इन सभी 37 कॉलेजों को कड़ा पत्र भेजा है।

यूनिवर्सिटी ने कॉलेजों को यह मानते हुए पत्र भेजा है कि उनके कॉलेज में कोई नियमित विद्यार्थी नहीं है इसलिए यूनिवर्सिटी प्रशासन ने कोई तैयारी नहीं की है, इसके लिए कॉलेज प्रशासन जिम्मेदार है। उच्चशिक्षा विभाग को भी इसकी कॉपी भेजी जा रही है।
डॉ. इंदू अनंत, कुलसचिव, बीयू

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned