आरोपियों को पेश नहीं किया गया, सिमी मददगार मामले की सुनवाई बढ़ी

Kajal Kiran Kashyap

Publish: Nov, 30 2016 10:46:00 (IST)

Bilaspur, Chhattisgarh, India
आरोपियों को पेश नहीं किया गया, सिमी मददगार मामले की सुनवाई बढ़ी

एनआईए की विशेष टीम ने राजधानी से 25 दिसम्बर 2013 को खमतराई में चिकन सेंटर चलाने वाले धीरज साव को गिरफ्तार किया था।

बिलासपुर. एनआईए की विशेष अदालत में मंगलवार को  सिमी मददगार मामले की सुनवाई होनी थी। लेकिन आरोपियों को न्यायालय में पेश नहीं किया जा सका। अदालत ने मामले की अगली सुनवाई 9 दिसंबर तक के लिए बढ़ा दी है। एनआईए की विशेष टीम ने राजधानी से 25 दिसम्बर 2013 को खमतराई में चिकन सेंटर चलाने वाले धीरज साव को गिरफ्तार किया था। पूछताछ में उसने बताया कि वह बिहार का रहने वाला है।  चिकन सेंटर चलाने के दौरान 2011 में उसका संपर्क पाकिस्तान निवासी खालिद से हुआ।

 खालिद इंडियन मुजाहिद्दीन और सिमी का सक्रिय सदस्य था। वह धीरज के खाते में पाकिस्तान से रुपए भेजता था और कमीशन के लालच में धीरज उन रुपए को भारत में सक्रिय सिमी आतंकियों के खाते में ट्रांसफर कर देता था। इसके बाद धीरज ने अपने  ममेरे भाई श्रवण को भी इस काम में शामिल कर लिया। वह दोनों जुबैर हुसैन और उसकी पत्नी आयशा बानो के खाते में रुपए  ट्रांसफर करते थे। विशेष टीम ने इन दोनों को गिरफ्तार किया था।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned