ऐसा क्या हुआ कि खुशी बदल गई मातम में, देखिए विडियो

Bilaspur, Chhattisgarh, India
 ऐसा क्या हुआ कि खुशी बदल गई मातम में, देखिए विडियो

तभी मुंगेली की ओर से आ रही गिट्टी से भरी हाइवा के चपेट में आ गए। जिससे बाइक सवार विनोद कौशल, करन जानसंन, बुगला मिरी की मौके पर ही मौत हो गई

बिलासपुर। आज दोपहर 2 बजे बिलासपुर की ओर से आ रही दो पहिया वाहन में सवार 4 लोग हाइवा के चपेट में आ गए। जिसमें से तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गई वहीं  चौथा गंभीर रुप से घायल है, जिसे इलाज के लिए सिम्स भेजा गया।

तखतपुर पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार जरहाभाठा मिनिबस्ती में रहने वाला मंजू सिंह की बेटी सोनी की शादी विगत 2 मई को ग्राम बीजा निवासी विकास टोण्डे के साथ हुई थी। जिसे पहली बार लेने के लिए मंजू सिंह अपने रिश्तेदारों के साथ जरहाभाठा से बीजा के लिए 12 बजे से निकले थे। जिसमें से सात लोग दो बाइक पर व तीन लोग बस से आ रहे थे।

बाइक में विनोद कौशल (26), करन जानसंन पिता चन्द्रप्रकाश जानसन (16), बुगला मिरी पिता राज मिरी (3) अमर सतनामी पिता मनोहर सतनामी (18) बाइक क्रमांक सीजी 10 ईएम 7371 से आ रहे थे। गुनसरी मोड़ के पास अचानक एक गाय बाइक सामने आ गई। जिससे टकराकर बाइक का संतुलन बिगड़ गया और सड़क पर चारों गिर पड़े। तभी मुंगेली की ओर से आ रही गिट्टी से भरी हाइवा क्रमांक सीजी 10 वी 4440 के चपेट में आ गए। जिससे बाइक सवार विनोद कौशल, करन जानसंन, बुगला मिरी का मौके पर ही मौत हो गई। वहीं अमर सतनामी गंभीर रूप से घायल हो गए, जिसे ग्रामीणों ने निजी वाहन से तखतपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भेजा। प्राथमिक उपचार के बाद उसे सिम्स रिफर कर दिया गया। पुलिस ने  रिपोर्ट पर धारा 279, 337 , 304 ए के तहत अपराध दर्ज किया है।

रिश्तेदारों ने की पहचान :  वहीं पीछे आ रहे दूसरे वाहन में मृतक के रिश्तेदार मनोहर चतुर्वेदी पिता एतबल चतुर्वेदी (55), राहुल पिता मनोहर (12) व एक बुजूर्ग व्यक्ति घटना को देखकर रूके और देखते ही उनके होश उड़ गए। वही बस में आ रहे सानू सागर पिता मनी सागर(17), मंजू सिंह पिता कनका सिंह (35), राजा मिरी को मोबाइल से घटना की सूचना दी गई। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई और इससे पहले की लोग चक्का जाम करते पुलिस मृतकों के शव को तखतपुर ले आई ।
 
परिवार में छाया मातम : शादी के बाद बेटी को पहली बार उसके ससुराल लेने जाना परिवार के लिए बड़ी  खुशी का माहौल बना रहता है। जिसके चलते इस रस्म को अपने रिश्तेदारों के साथ साझा किया जाता है और बेटी को लेने रिश्तेदारो को लेकर जाते हंै। घटना की जानकारी परिवार व रिश्तेदारों को होते ही लोग तखतपुर पहुंचना प्रारंभ कर दिए।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned