बैंबू मसाज थैरेपी से संवारें अपनी हेल्थ, जानें इसके बारें में 

Vikas Gupta

Publish: Mar, 07 2017 09:00:00 (IST)

Body & Soul
बैंबू मसाज थैरेपी से संवारें अपनी हेल्थ, जानें इसके बारें में 

बैंबू एक्सट्रैक्ट (सार) की सिलिका से शरीर को पोटेशियम, कैल्शियम और मैगनीशियम जैसे जरूरी मिनरल्स एब्जोर्ब करने में मदद मिलती है। इससे शरीर में ब्लड का सर्कुलेशन सही रहता है।

शरीर को सुकून और राहत देने के लिए आजकल बैंबू मसाज का चलन बढ़ रहा है। इसका प्रयोग तनाव और दर्द दूर करने के लिए भी किया जाता है। इसमें बांस के टुकड़े को गर्म कर शरीर पर रोल किया जाता है। इससे शरीर के टिश्यूज की गहराई तक मसाज हो जाती है। बैंबू एक्सट्रैक्ट (सार) की सिलिका से शरीर को पोटेशियम, कैल्शियम और मैगनीशियम जैसे जरूरी मिनरल्स एब्जोर्ब करने में मदद मिलती है। इससे शरीर में ब्लड का सर्कुलेशन सही रहता है।

मसाज: इसके लिए बांस के ऑर्गेनिक खोखले टुकड़ों को गर्म कर या कमरे के तापमान पर भी प्रयोग किया जाता है। ये टुकड़े लंबाई और परिधि में अलग-अलग होते हैं। इन बांस के टुकड़ों से मसाज और थपथपाने का काम होता है। कई थैरेपिस्ट बैंबू मसाज करते समय चीनी, थाई व आयुर्वेदिक तकनीकों का फ्यूजन भी प्रयोग करते हैं।

ये हैं फायदे
गर्दन, कंधे, पीठ के दर्द और मांसपेशियों की अकडऩ में राहत मिलती है।
अच्छी और गहरी नींद आती है।
तनाव से राहत मिलती है और मन शांत होता है।
शरीर में मौजूद टॉक्सिन (विषैले पदार्थ) आसानी से निकल जाते हैं।
बॉडी की नैचुरल हीलिंग क्षमता बढ़ती है।
इससे शरीर में एंडोर्फिंस का स्राव होता है, जो नैचुरल पेन किलर माना जाता है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned