बड़ों के धूम्रपान से बच्चों के हाथों पर पहुंचता है निकोटीन

Vikas Gupta

Publish: Apr, 09 2017 10:39:00 (IST)

Body & Soul
बड़ों के धूम्रपान से बच्चों के हाथों पर पहुंचता है निकोटीन

जो लोग सोचते हैं कि अपने बच्चों के आसपास धूम्रपान न करना काफी है, लेकिन ऐसा नहीं है। हवा में जो तंबाकू के कीटाणु मिले होते हैं, वे तैरते हुए दूर तक भी जा सकते हैं। 

न्ययॉर्क। घर में जब कोई धूम्रपान करता है, तब तंबाकू के धुएं में मौजूद निकोटीन यानी हानिकारक कीटाणुओं का समूह हवा में तैरता हुआ आसपास के बच्चों के हाथों पर जाकर चिपक जाता है। ये कीटाणु हाथों पर दिखाई तो नहीं देते, लेकिन एक शोध में उनकी मौजूदगी की पुष्टि हुई है। जो लोग सोचते हैं कि अपने बच्चों के आसपास धूम्रपान न करना काफी है, लेकिन ऐसा नहीं है। हवा में जो तंबाकू के कीटाणु मिले होते हैं, वे तैरते हुए दूर तक भी जा सकते हैं।

शोध का निष्कर्ष इस बात पर जोर देता है कि आपका धूम्रपान को छोड़ देना ही बच्चों को तंबाकू से होने वाले खतरे से बचा सकता है। यदि आप धूम्रपान करते हैं, तब तंबाकू के कीटाणु हवा के जरिए आपके बच्चों के कोमल हाथों पर पहुंच सकते हैं।

अमेरिका के सिनसिनेटी चिल्ड्रेंस अस्पताल से संबद्ध चिकित्सक मेलिंडा महाबी-गिटेंस का कहना है, अभिभावक सोच सकते हैं कि अपने बच्चों के आसपास धूम्रपान न करना काफी है, लेकिन ऐसा नहीं है। धूम्रपान को छोडऩा या घर में धूम्रपान बंद करना ही बच्चों को खतरे से बचा सकता है।

पिछले अध्ययन बताते हैं कि तंबाकू के हानिकारण कीटाणु मिट्टी में, घर की सतहों से, धूम्रपान करने वालों के कपड़ों से और घर में मौजूद चीजों, यहां तक कि खिलौनों पर भी जाकर चिपक जाते हैं और हाथो-हाथ फैलते चले जाते हैं। शोध का निष्कर्ष बीएमजे जर्नल टबैको कंट्रोल में प्रकाशित हुआ है। शोध से संबंधित प्रयोग में 25 बच्चों को शामिल किया गया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned