मुख्यमंत्री के रूप में यहां से विधायक रहे थे मुलायम

Mukesh Kumar

Publish: Jan, 13 2017 07:16:00 (IST)

Badaun, Uttar Pradesh, India
मुख्यमंत्री के रूप में यहां से विधायक रहे थे मुलायम

बदायूं को मुलायम सिंह यादव की कर्मस्थली भी कहा जाता है।

बदायूं। समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव का बदायूं से बेदह लगाव रहा है। सपा मुखिया मुख्यमंत्री के रूप में बदायूं जिले की सीटों से भी चुनाव लड़ चुके हैं। ऐसा एक बार नहीं बल्कि तीन बार हुआ है और तीनों बार ही वो जीत का परचम लहरा चुके हैं। हालांकि मौजूदा वक्त में मुलायम सिंह यादव की कर्मस्थली कही जाने वाली गुन्नौर विधानसभा नए जिले सम्भल में शामिल हो चुकी है।

तीन बार लड़ चुके हैं चुनाव
मुलायम सिंह यादव पहली बार 1996 में सहसवान विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा। उन्होंने इस चुनाव में उनकी रिकार्ड मतों से जीत दर्ज की। हालांकि बाद में उन्होंने विधानसभा की सदस्यता दे दिया था। इसके बाद 2004 में मुख्यमंत्री रहते हुए मुलायम सिंह ने बदायूं की गुन्नौर विधानसभा से चुनाव लड़ा। उनके विरोध में आरिफ अली ने बसपा प्रत्याशी के रूप में ताल ठोंकी थी। इस चुनाव में मुलायम सिंह यहां से एक लाख 95 हजार 213 वोट हासिल कर विधायक चुने गए थे। वर्ष 2007 में भी बसपा प्रत्याशी आरिफ अली से इसी सीट पर मुलायम सिंह यादव का मुकाबला हुआ था। इस बार 54 हजार 696 वोट मुलायम को मिले और जीत का ताज उनके सिर पर सजा।

बदायूं में सपा की मौजूदा स्थिति
बदायूं को सपा का मजबूत गढ़ भी कहा जाता है। पिछले विधानसभा चुनाव में बदायूं की छह विधानसभा सीट में से चार पर सपा का जबकि दो सीट पर बसपा का कब्जा है। सपा ने बदायूं, बिसौली, सहसवान और शेखुपुर सीट पर कब्जा जमाया था जबकि बसपा ने दातागंज और बिल्सी सीट पर जीत प्राप्त की थी। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के भाई धर्मेंद्र यादव के बदायूं से लोकसभा का चुनाव लड़ने की एक वजह यह भी है कि मुलायम सिंह का यहां से पुराना नाता है।



Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned