पाकिस्तान की जीत पर नारे लगाने वाले बुरहानपुर के 15 आरोपियों को जेल भेजा

Editorial Khandwa

Publish: Jun, 20 2017 11:30:00 (IST)

Burhanpur, Madhya Pradesh, India
पाकिस्तान की जीत पर नारे लगाने वाले बुरहानपुर के 15 आरोपियों को जेल भेजा

क्रिकेट मैच में पाकिस्तान की जीत के बाद नारेबाजी करने वाले आरोपियों को जब कोर्ट में पेश किया गया तो यहां मौजूद वकील आरोपियों को देख नाराज हो गए। पैरवी करने वाला कोई वकील नहीं होने से कोर्ट ने सभी को जेल भेज दिया।

बुरहानपुर/शाहपुर. क्रिकेट मैच में पाकिस्तान की जीत के बाद नारेबाजी करने वाले आरोपियों को मंगलवार को जब कोर्ट में पेश किया गया तो यहां मौजूद वकील आरोपियों को देख नाराज हो गए। पाकिस्तान की जीत पर जश्न मनाने वालों के खिलाफ वकीलों ने कोर्ट परिसर में ही हिंदुस्तान जिंदाबाद, पाकिस्तान मुर्दाबाद और भारत माता की जय के नारे लगाने शुरू कर दिए। इससे पूरा माहौल गर्मा गया।


पुलिस अफसरों को पूरी व्यवस्था संभालनी पड़ी। कड़ी सुरक्षा के बीच मंगलवार दोपहर 3 बजे के करीब आरोपियों को न्यायालय में पेश किया गया। आरोपियों की ओर से पैरवी करने वाला कोई वकील नहीं होने से कोर्ट ने सभी को जेल भेज दिया।
रविवार को भारत-पाकिस्तान के बीच क्रिकेट के चैंपियंस ट्रॉफी फाइनल मैच में भारत की हार के बाद मोहद में 15 लोगों ने आतिशबाजी कर पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए थे। मामले में शाहपुर पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर सभी को गिरफ्तार किया। मंगलवार जब पुलिस आरोपियों को लेकर कोर्ट पहुंची तो वकीलों ने जमकर नारेबाजी की।


इधर, आरोपियों को न्यायालय में लाने की खबर मिलने पर हिंदू संगठन भी पहुंच गया उन्होंने भी यहां पर नारेबाजी की। आरोपियों पर कोई हमला न करे,इसलिए पहले से ही पुलिस बल सतर्क था।
किसी वकील ने नहीं की पैरवी, सभी को जेल भेजा
सभी आरोपियों को प्रथम श्रेणी न्यायाधीश पूनम डामिचा की अदालत में पेश किया गया। सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी सुरेंद्र वास्केल ने शासन की तरफ से पैरवी की। मामला देशद्रोह से जुड़ा होने के कारण किसी भी वकील ने आरोपियों की पैरवी नहीं की।


अदालत ने सभी को 14 दिन के लिए खंडवा जेल भेज दिया। शाहपुर पुलिस ने इतबार पिता गुलजार तड़वी, जुबेर पिता गुलाब तड़वी, रुबाब पिता नवाब तड़वी, फिरोज पिता जमशेद तड़वी, बशीर पिता शमशेर तड़वी, मुबारक पिता मुर्शरफ तड़वी, सज्जाद पिता करीम मंसूरी, अनीस पिता बाबू मंसूरी, सरफाज पिता रशीद तड़वी, इमाम पिता खुदाबक्श तड़वी, सलमान पिता तुराब तड़वी, शरीफ पिता हसन तड़वी, मेहमूद पिता रशीद तड़वी, इमरान पिता मीर खा तड़वी और रमजान पिता हसन तड़वी को गिरफ्तार किया है। सभी पर धारा 124 (ए) व 120 (बी) के तहत प्रकरण चलाया जाएगा।
सीएसपी और तीन टीआई रहे सुरक्षा के लिए मौजूद
कोर्ट में आरोपियों को पेश करने के पहले ही पुलिस ने सुरक्षा के पूरे इंतेजाम कर लिए थे। मौके पर सीएसपी, शाहपुर, शिकारपुरा व लालबाग टीआई के साथ बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात रहा। आरोपियों के आते ही नारेबाजी शुरू होने पर पुलिस ने आरोपियों को चारों ओर से घेर लिया और नारेबाजी करने वाले वकीलों को समझाइश दी।


डर से आरोपियों ने लगाए भारत माता की जय के नारे
दो दिन पहले पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने वाले आरोपियों को मंगलवार जब शाहपुर थाने से बाहर निकला गया, तो प्रांगण में राष्ट्रगाण्न चल रहा था, पुलिस को देखकर डर से आरोपी भी भारत माता की जय के नारे लगाने लगे। शाहपुर पुलिस ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में सभी का स्वास्थ्य परीक्षण कराया।
थाना प्रभारी संजय पाठक ने बताया कि मामला सामने आने के बाद मोहद व आसपास के संवेदनशील क्षेत्रों में नजर रखी जा रही है। आरोपियों को सुरक्षा के बीच न्यायालय ले जाया गया। पाठक ने बताया कि गजट नोटिफिकेशन मे आदेश जारी हुआ है कि कोर्ट का निर्णय आने तक देशद्रोह के आरोपियों को शासन से मिलने वाली सुख सुविधाएं निलंबित रखा जाएगा।


आजीवन कारावास की सजा का प्रावधान
जिला लोक अभियोजक श्याम देशमुख ने बताया कि देशद्रोह के मामले में आजीवन कारावास तक सजा का प्रावधान है। धारा 124 ए में देश के अपमान में नारे लगाना व उकसाने के अपराध में अधिकतम आजीवन कारावास होता है। धारा 120 बी षड्यंत्र की प्लानिंग करना देशद्रोह के अपराध से ही संबंधित है
सभी आरोपियों को कोर्ट में पेश किया। देशद्रोह से जुड़ा मामला होने के कारण अतिरिक्त सुरक्षा बरती गई। सभी आरोपियों को कोर्ट ने 14 दिन के लिए जेल भेज दिया है।
 बीपीएस परिहार, सीएसपी बुरहानपुर

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned