पति ने उठाई चरित्र पर उंगली तो ससुराल में निगला जहर, दो घंटे बाद अस्पताल में मौत

Editorial Khandwa

Publish: Dec, 01 2016 08:32:00 (IST)

burhanpur
पति ने उठाई चरित्र पर उंगली तो ससुराल में निगला जहर, दो घंटे बाद अस्पताल में मौत

- अस्पताल में परिजनों ने किया हंगामा
- आरोपी पति पर केस दर्ज की मांग
बुरहानपुर. चरित्र शंका के आरोप से परेशान होकर पत्नी जहर पीकर अपनी मां के घर पहुंच गई। परिजनों को यह बात बताने पर तुरंत जिला अस्पताल में भर्तीकिया।जहां उपचार के दौरान उसने दम तोड़ दिया। घटना के बाद अस्पताल में परिजनों ने हंगामा किया। पति पर केस दर्जकराने की मांग की। पूरा मामला अस्पताल के मुख्य गेट के बाहर चलने से यातायात भी प्रभावित हुआ।
35 वर्षीय जानकी बाईपति नारायण निवासी अंजनबल्डी ने मंगलवार सुबह अपने ससुराल में जहर पी लिया। इसके बाद वह छह किमी दूर मैथा खारी में मां झुमा नारायण के घर पहुंची।जहां परिजनों को आप बिती बताई।परिजन पास के अस्पताल लेकर पहुंचे जहां जिला अस्पताल भेजा गया। मंगलवार शाम 6 बजे अस्पताल में भर्तीकरने के बाद रात में 11.30 बजे उसकी मौत हो गई। बुधवार सुबह 10 बजे जब ससुराल पक्ष के लोग अस्पताल आए तो परिजनों ने हंगामा कर दिया। मौसी सुशीला जाधव ने कहा कि हमारी बेटी जानकी पर गलत आरोप लगाए जाते थे। पति उसे अपनी मां के घर नहीं आने देता था। इसी से तंग आकर उसने जहर पीकर आत्महत्या कर ली। मामा चेनसिंग बुधा ने कहा कि इसकी जांच की जाना चाहिए।
रोते बिलखते रहे परिजन और बच्चे
जानकी बाईकी मौत के बाद परिजन रोते बिलखते रहे। सुशीला बाईने कहा कि जानकी के चार बच्चों से मां का साया उठगया। अभी सभी बच्चे छोटे है।बड़ी लड़की 10 साल की लक्ष्मी है, छोटी बबली, लड़का गणेश और सबसे छोटी हर्षिता है। शाहपुर पुलिस का कहना हैकि मामले में अभी बयान होना बाकी है। जांच के बाद ही आगे कार्रवाईकी जा सकेगी। पति नारायण ने कहा कि मायके पक्ष द्वारा लगाए गए आरोप पूरी तरह गलत है। मेरे चार बच्चे हैं। कभी इस तरह की शंका नहीं की है। शादी को भी लंबा समय हो गया है।
बीयू0107 :अस्पताल के बाहर विरोध जताते परिजन, पास खड़े मृतिका के बच्चे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned