हाउसिंग बोर्ड का तुगलकी निर्णय, चार साल में बढ़ा दिए 145 फीसदी दाम

Editorial Khandwa

Publish: Dec, 02 2016 01:30:00 (IST)

Burhanpur, Madhya Pradesh, India
 हाउसिंग बोर्ड का तुगलकी निर्णय, चार साल में बढ़ा दिए 145 फीसदी दाम

145 प्रतिशत बढ़ा दिए हाउसिंग बोर्ड ने मकान के दाम,  पहले बुक करा चुके लोगों की भी हो रही परेशानी   बाजार से महंगा हुआ हाउसिंग बोर्ड-   98 आवासों का लोधीपुरा मार्ग पर हो रहा निर्माण

बुरहानपुर. हाउसिंग बोर्ड के मकानों के रेट चार साल में 145 फीसदी तक बढ़ा दिए हैं। जबकि इसमें पहले ही निवेश कर चुके लोगों को अब यहां के मकान महंगे पड़ रहे हैं। 2013 में जो आवास 4 लाख 64 हजार रुपए में बेचने के लिए तय किए थे, उसे अब 11 लाख 26 हजार रुपए कर दिया है।
इंदिरा कॉलोनी का निर्माण कर चुके हाउस बोर्ड ने कई वर्षों बाद रेलवे स्टेशन से दरगाह-ए-हकीमी रोड पर अटल विहार कॉलोनी बनाई। यहां पर पहले सस्ते दाम रखने के बाद लोगों ने ने दिलचस्पी दिखाई थी। लेकिन चार साल बाद बोर्ड ने इसके रेट में 145 फीसदी तक बढ़ोतरी कर दी है।
2012 में काम शुरू, बनाए मात्र 17 मकान
हाउसिंग बोर्ड ने लोधीपुरा रोड पर 2012 में काम शुरू किया था। लेकिन अब तक मात्र 17 मकानों का ही निर्माण किया गया है। बोर्ड के कर्मचारी अब यहां के आवासों को लेकर लोगों को जानकारी दे रहे हैं। कॉलोनी में 30 लोगों ने पूर्व में राशी भी जमा करवा ली है।
98 मकानों का हो रहा निर्माण
2012 से हाउसिंग बोर्ड के मकान निर्माण कर रहा है। इसमें 98 आवासों का निर्माण किया जाना है। लेकिन अफसरों की लेटलतीफी के चलते अब तक मात्र 17 आवासों का ही निर्माण हो पाया है। जबकि हाउसिंग बोर्ड के मकान कम कीमत पर होना चाहिए।
निगम के आवास भी खाली
निगम की ओर से सुदंर नगर में 198 मकान बनाए गए हैं। लेकिन ये आवास अब भी खाली पड़े हुए हैं। इसका आवंटन भी सरकारी फाइलों में कैद होकर रह गया है। आवास वितरण को लेकर कभी निगम की लेट लतीफी तो कभी कलेक्टोरेट से हरी झंडी का न मिलना प्रमुख कारण है। यहां पर भी गरीब परिवार 15-15 हजार रुपए जमा कर चुके थे। यहां के तो कई मकान अब जर्जर भी होने लगे हैं।
450 वर्ग फीट का मकान, 11.26 लाख में
हाउसिंग बोर्ड का सबसे सस्ता मकान वन-बीएचके 450 वर्गफीट में बनाया गया है। जबकि इसके रेट 11 लाख 26 हजार रुपए तक किए हैं। बाजार से सस्ते दर पर आवास उपलब्ध कराने वाला हाउसिंग बोर्ड अब बाजार से भी महंगा हो गया है। यही कारण है कि लोग यहां पर अब कम ही दिलचस्पी दिखा रहे हैं।
ऐसे बढ़े हैं दाम
भवन का प्रकार     संख्या     मूल्य 2012    मूल्य 2016
वन-बीएचके     44    4.64 लाख        11.26
एआईजी वन-बीएचके    30    9.64 लाख     20.21
एआईजी टू-बीएचके    12    11 लाख         23.87
एमआईजी टू-बीएचके    12    18.12         35.19 लाख
- हाउसिंग बोर्ड ने आवास को सस्ता करना चाहिए। ताकि सामान्य वर्ग को सहारा मिल सके। बोर्ड के अफसरों ने इतना राशि बढ़ा दी कि अब लेना मुश्किल होगा।
विजय पाटिल, शहरवासी
- लोक निर्माण विभाग के ने निर्माण कराया है। लागत मूल्य बढऩे के साथ ही गाइड लाइन में जमीनों के रेट भी बढ़े थे, इसके चलते भाव बढ़ाए गए हैं।
इआर चौधरी, सहायक यंत्री हाउसिंग बोर्ड

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned