Wipro-काग्निजेंट के बाद इंफोसिस में छटनी, सरकार लगाम लगाने की कर रही तैयारी: खड़गे 

prashant jha

Publish: May, 10 2017 05:58:00 (IST)

Business
Wipro-काग्निजेंट के बाद इंफोसिस में छटनी, सरकार लगाम लगाने की कर रही तैयारी: खड़गे 

देश की कई आईटी कंपनियों में निकालने का सिलसिला चल रहा है। देश की बड़ी आईटी कंपनियां विप्रो और काग्निजेंट के बाद अब देश की सबसे बड़ी आईटी कंपनी इंफोसिस में भी छंटनी का सिलसिला शुरू हो ने वाला है। हालांकि कर्नाटक सरकार की आईटी मंत्री ने छटनी पर रोक लगाने की बात कही है।

नई दिल्लीः देश की कई आईटी कंपनियों में निकालने का सिलसिला चल रहा है। देश की बड़ी आईटी कंपनियां विप्रो और काग्निजेंट कंपनियों ने लागत घटाने के लिए छंटनी जैसे कदम उठा रही हैं । छटनी का असर अब देश की सबसे बड़ी आईटी कंपनी इंफोसिस पर भी पड़ने वाला है। देश की प्रमुख आईटी कंपनी इन्फोसिस भी अपने मिड और सीनियर लेवल स्तर के सैकड़ों कर्मचारियों की छंटनी कर सकती है। सूत्रों के मुताबिक मिली जानकारी के मुताबिक कंपनी करीब 800-900 कर्मचारियों को निकालने की योजना बना रही है।

काग्निजेंट ने कर्मचारियों को निकाला
पिछले हफ्ते अमरीका बेस्ड काग्निजेंट में डायरेक्टर, एसोसिएट वाइस प्रेसिडेंट और सीनियर वाइस प्रेसिडेंट को 6-9 महीने का वेतन देकर निकाला गया था, वहीं देश की तीसरी सबसे बड़ी आईटी कंपनी विप्रो ने भी अपने सालाना वैल्यूएशन में पर्फॉर्मेंस अप्रेजेल के आधार पर करीब 600 कर्मचारियों को निकाल दिया है। वहीं कुछ सूत्रों के मुताबिक कंपनी से कुल 2000 लोगों को निकालने की तैयारी की जा चुकी है।

इंफोसिस भी छटनी के मूड में
वहीं खबर मिल रही है कि देश की अग्रानी कंपनी इंफोसिस भी छटनी करने के मूड में है।इन्फोसिस के एक प्रवक्ता ने कहा  कि हमारी प्रदर्शन प्रबधंन प्रक्रिया के तहत कामकाज का अर्धवाषिर्क आकलन किया जाता है। कामकाज के मोर्चे पर लगातार निम्न प्रदर्शन से प्रदर्शन के स्तर पर कुछ कार्रवाई की जा सकती है, जिसमें छंटनी शामिल है। प्रवक्ता ने ये नहीं बताया कि इस प्रक्रिया का असर कितने लोगों पर होगा हालांकि रिपोर्टों के मुताबिक कंपनी के सैकड़ों कर्मचारी प्रभावित हो सकते हैं।

इंफोसिस के सीईओ ने भर्ती की घोषणा की थी
गौरतलब है कि इन्फोसिस के सीईओ विशाल सिक्का ने पिछले दिनों घोषणा की थी कि वो 10 हज़ार अमरीकी कर्मचारियों को इंफोसिस में ज्वाइन कराएंगे और अमरीकी में 4 और नए सेंटर खोलेंगे। लेकिन कंपनी इससे इतर छटनी की तैयारी शुरू कर दी है। 

कर्नाटक सरकार ने छटनी पर रोक लगाने की बात कही
वहीं कर्नाटक सरकार के आईटी मंत्री प्रियंका खड़गे ने कहा कि सरकार उद्यमियों का एक ऐसा पारिस्थितिकी तंत्र बनाने का प्रयास कर रही है जिससे सूचना प्रौद्योगिकी कंपनियों में कर्मचारियों की छंटनी की समस्या से निपटा जा सके।उन्होंने कहा कि आईटी उद्योग में कर्मचारियों की छंटनी हमेशा समस्या रही है। ऑटोमेशन और आधुनिक प्रौद्योगिकियो की वजह से ऐसी चीजें होती हैं। प्रियंका ने कहा कि इन कर्मचारियों को रोजगार से अधिक योग्य बनाया जा सके और उद्यमिता के पारिस्थितिकी तंत्र का सृजन किया जा सके और कुछ नया करें।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned