देश के इतिहास में सबसे बड़ा ऑफसेट अनुबंधफ्रांसीसी कंपनी डसॉल्ट एविएशन के साथ रिलायंस का जॉइंट वेंचर

Business
देश के इतिहास में सबसे बड़ा ऑफसेट अनुबंधफ्रांसीसी कंपनी डसॉल्ट एविएशन के साथ रिलायंस का जॉइंट वेंचर

 डसॉल्ट एविएशन के चेयरमैनइरिक ट्रैपियर इसके चेयरमैन होंगे जबकि रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन अनिल अंबानी डीआरएएल के सह चेयरमैन होंगे।इस कंपनी में रिलायंस समूह की 51 प्रतिशत हिस्सेदारी होगी, जबकि डसॉल्ट एविएशन की 49 प्रतिशत हिस्सेदारी होगी।

बेंगलुरु; डसॉल्ट एविएशन के चेयरमैनइरिक ट्रैपियर इसके चेयरमैन होंगे जबकि रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन अनिल अंबानी डीआरएएल के सह चेयरमैन होंगे।इस कंपनी में रिलायंस समूह की 51 प्रतिशत हिस्सेदारी होगी, जबकि डसॉल्ट एविएशन की 49 प्रतिशत हिस्सेदारी होगी।
 सबसे बड़ा ऑफसेट अनुबंध
23 सितंबर, 2016 को भारत ने फ्रांस से 7.87 अरब यूरो या 60,000 करोड़ रुपये के 36 राफेल लड़ाकू जेट की खरीद करार पर हस्ताक्षर किए थे। इस कॉन्ट्रैक्ट में 50 प्रतिशत यानी करीब 30,000 करोड़ रुपये की ऑफसेट प्रतिबद्धता शामिल है। यह देश के इतिहास का सबसे बड़ा ऑफसेट अनुबंध है।
2017 के अंत तक उत्पादन शुरू 
डीआरएएल ने ढांचागत जरूरतों को पूरा करते हुए मिहान, नागपुर के धीरूभाई एरोस्पेस पार्क में मई, 2017 में काम शुरू करने का फैसला कर लिया हैं। यह 2017 के अंत तक उत्पादन भी शुरू कर देगा। यह 'मेड इन इंडिया' और 'स्किल इंडिया' जैसी सरकारी योजनाओ को साकार करने में भी भारत सरकर की मदद करेगा। येलहंका के वायुसेना हवाई अड्डे पर चल रही प्रदर्शनी 'एरो इंडिया 2017' प्रदर्शनी के दौरान इसकी घोषणा की गई।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned