अश्लील फोटो वायरल मामले में दो छात्रनेताओं को  पुलिस ने भेजा जेल

Chandauli, Uttar Pradesh, India
अश्लील फोटो वायरल मामले में दो छात्रनेताओं को  पुलिस ने भेजा जेल

23 सितंबर 2016 को दर्ज हुआ था मामला 

चन्दौली. अलीनगर पिछले दिनों एलबीएस पीजी कॉलेज के तत्कालीन छात्रसंघ उपाध्यक्ष की अश्लील फोटोज सोशल मीडिया पर वायरल होने के प्रकरण में अलीनगर पुलिस और साइबर सेल टीम को सफलता हाथ लगी और पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

बता दे की 23 सितम्बर को 2016 को लाल बहादुर शास्त्री स्नात्कोत्तर महाविद्यालय मुगलसराय के तत्कालीन छात्रसंघ उपाध्यक्ष की ओर से एक एफआईआर अलीनगर थाना में दर्ज करायी गयी थी। मामला था कि शरारती तत्वों द्वारा फेसबुक पर एक फेक आईडी बनाकर छात्रसंघ उपाध्यक्ष की अश्लील फोटोज वायरल कर दी थी। इसके बाद मामला तकरीबन दो महीने तक ठंडे बस्ते में ही रहा। इधर फिर जब छात्रसंघ चुनाव को लेकर माहौल गर्म हुए तो फिर शरारती तत्व सक्रिय हुए और हालिया दिनों फिर से उन अश्लील फोटो को वायरल कर चुनावी मुद्दों को हवा दी गयी। 

जिसके बाद मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस अधीक्षक दीपिका तिवारी ने क्षेत्राधिकारी सदर प्रमोद कुमार यादव के नेतृत्व में अलीनगर थाना एवं साइबर सेल के तेज तर्रार पुलिसकर्मियों की एक टीम गठित की और मामले की जांच के आदेश दिए। मामले की जांच के करते हुए टीम ने तकनीकि पहलुओं पर ध्यान देते हुए मंगलवार की अपराह्न दो अभिंयुक्तों को हिरासत में ले लिया।  पूछताछ के बाद पुलिस ने दोनों अभियुक्तों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें साईबर एक्ट सहित विभिन्न धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर जेल भेज दिया।

एक मोबाइल बरामद
अलीनगर थाना प्रभारी के मुताबिक हिरासत में लिए गए अभिंयुक्तों को जेल भेज दिया गया है। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार अभिंयुक्तों में हरप्रीत कौर निवासिनी मैनाताली मुगलसराय और सुधीर यादव निवासी वार्ड संख्या 13 अलीनगर शामिल हैं। थानाध्यक्ष ने ये भी बताया कि सुधीर कुमार के पास से मोबाइल बरामद की गयी है, जबकि हरप्रीत का कहना है कि उसका पुराना मोबाइल कहीं खो गया है।

आईडी हैक कर की थी पोस्ट
पुलिस के मुताबिक आपत्तीजनक फोटोज शेयर करने वाले शरारती तत्वों ने काफी शातिर ढंग से इस कार्य को अंजाम दिया था। पुलिस के मुताबिक एक व्यक्ति की आईडी को हैक करके ये अश्लील पोस्ट शेयर की गयी थी।

एसपी ने दी शाबाशी
साइबर क्राइम के मामले में दो अभिंयुक्तों को गिरफ्तार कर सफलता हासिल करने वाली अलीनगर पुलिस और साइबर क्राइम की संयुक्त टीम को पुलिस अधीक्षक ने शाबाशी दी है। उन्होंने क्षेत्राधिकारी सदर प्रमोद कुमार और जांच दल में शामिल अन्य पुलिसकर्मियों की प्रशंसा की है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned