दिव्यांगों की सेवा भगवान की सेवा

Mukesh Sharma

Publish: Jul, 17 2017 09:51:00 (IST)

Chennai, Tamil Nadu, India
दिव्यांगों की सेवा भगवान की सेवा

आदिनाथ जैन ट्रस्ट के तत्वावधान में रविवार शनिवार को चूलै में अंगलम्मन कोइल स्ट्रीट स्थित उमा सूरज पैलेस

चेन्नई।आदिनाथ जैन ट्रस्ट के तत्वावधान में रविवार शनिवार को चूलै में अंगलम्मन कोइल स्ट्रीट स्थित उमा सूरज पैलेस में निशुल्क कृत्रिम अंग वितरण शिविर लगाया गया।

माणकचंद, भागचंद, देवीचंद, रामचंद्र, उपेंद्रकुमार व शांतिलाल गांधी परिवार के सहयोग से लगाए गए शिविर में बतौर विशिष्ट अतिथि धनराज तातेड़, प्यारेलाल पीतलिया, चंदनमल मुणोत, मंगलचंद तातेड़, सुरेश जैन उपस्थित थे। स्वागत भाषण ट्रस्ट के मोहन जैन ने प्रस्तुत किया। उन्होंने सभी दिव्यांगों को मांसाहार के नुकसान बताए एवं मांसाहार छोडऩे का संकल्प दिलाया। उन्होंने बताया कि ट्रस्ट द्वारा अब तक एक लाख तीस हजार लोगों से मांसाहार छुड़वाया जा चुका है। मंगलचंद तातेड़ ने अतिथियों का परिचय दिया।

चंदनमल मुणोत ने कहा दिव्यांग सेवा भगवान की सेवा करना है। आदमी के दिल में दया, करुणा एवं सेवा भावना अवश्य होनी चाहिए। उन्होंने ट्रस्ट की सेवाओं को प्रशंसनीय बताया। प्यारेलाल पीतलिया ने कहा इस तरह दिव्यांगों की सेवा हर व्यक्ति के वश की बात नहीं। सबसे बड़ी सेवा दिव्यांगों की ही है। आज लोग दाम तो लगाते कम हैं और बताते ज्यादा हैं यानी केवल नाम कमाना चाहते हैं। असली सेवा बहुत मुश्किल है।

शिविर में करीब चार सौ दिव्यांगों में लिम्ब, क्लचेज, ट्राईसाइकिल, ह्वील चेयर, चश्मे, श्रवण यंत्र एवं वाकिंग सपोर्टर्स आदि का वितरण किया गया। संचालन ट्रस्ट के उपाध्यक्ष मनोज जैन ने किया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned