ससुराल में शौचालय नहीं था तो मायके आ गई नवविवाहिता

chhatarpur madhya pradesh india
ससुराल में शौचालय नहीं था तो मायके आ गई नवविवाहिता

ससुराल वालों से कहा-शौचालय बनाकर मुझे बुलाना, कलेेक्टर ने किया सम्मानित, बनाएंगे जिले का स्वच्छता एंबेसडर।

छतरपुर. शादी के बाद ससुराल जाने पर घर में शौचालय नहीं था तो विवाहिता मायके चली आई। विवाहिता ने ससुराल वालों से आग्रह किया कि आप लोग जब घर में शौचालय बनवा लें तब मुझे लेने आ जाना। कलेक्टर रमेश भंडारी ने शौचालय नहीं होने पर ससुराल छोड़कर मायके आने वाली नवविवाहिता पूनम साहू को शाल-श्रीफल देकर सम्मानित किया। 

नवविवाहिता पूनम साहू पिछले दिनों विवाह के बाद ससुराल पहुंचने पर शौचालय नहीं होने पर मायके आ गई थीं। पूनम साहू के इस निर्णय की काफी सराहना हुई थी। कलेक्टर रमेश भंडारी ने कहा कि पूनम को जिले में स्वच्छता का एंबेसडर बनाया जाएगा।
छतरपुर जनपद पंचायत क्षेत्र अंतर्गत अतरार गांव निवासी समसू साहू के पुत्र का विवाह डेढ़ महीने पहले बिजावर के नारायणपुर गांव में पूनम साहू से हुआ था। 

पूनम विवाह के बाद ससुराल गई तो घर में शौचालय नहीं था। जिसपर पूनम ने ससुराल वालों से शौचालय बनाने के लिए कहा और मायके चली आई। इस दौरान पूनम ने कहा था कि जब शौचालय बन जाए तब उसे लेने आ जाना। कलेक्टर रमेश भंडारी को इसकी जानकारी मिलने पर उन्होंने सोमवार को पूनम साहू का सम्मान किया और उसका हौसला बढ़ाया।

कलेटर रमेश भंडरी ने बताया कि पूनम के ससुर को बुलाया था। उसके घर में जनपद पंचातय की मदद से शौचालय तैयार कराया जाएगा। इस मौके पर सीईओ जिपं हर्ष दीक्षित व एडीएम डीके मौर्य व सरपंच गोपी विश्वकर्मा मौजूद रहीं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned