साढ़े तीन साल बाद भी दूसरे सेमेस्टर में ही अटके भविष्य के डॉक्टर

Deepak Rai

Publish: Jul, 17 2017 12:23:00 (IST)

chhatarpur hindi news, madhya pradesh news in hindi
साढ़े तीन साल बाद भी दूसरे सेमेस्टर में ही अटके भविष्य के डॉक्टर

होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज

छतरपुर. शहर के शासकीय स्वामी प्रणवानंद हौम्योपैथिक कॉलेज प्रबंधन की लापरवाही से भविष्य के डॉक्टरों को परेशान होना पड़ रहा है। समय से परीक्षाएं नहीं कराने से विद्यार्थियों के डॉक्टर बनने का सपना अधर में लटका है। समय से परीक्षाएं कराने के लिए विद्यार्थी कई बार मांग कर चुके हैं लेकिन कोई सुध लेने वाला 
नहीं है।
जानकारी के अनुसर स्वामी प्रणवानंद होम्योपैथिक कॉलेज 2013 के बैच प्रवेश लेने वाले छात्रों की प्रथम सेमिस्टर की परीक्षाएं कॉलेज प्रबंधन द्वारा निश्चित समय पर आयोजित नहीं कराई गई। प्रथम सेमिस्टर की परीक्षाएं डेढ़ वर्ष में न कराकर ढाई वर्ष बाद कराई गर्इं। वहीं दूसरे सेमेस्टर की परीक्षाएं एक वर्ष में कराई जाती हैं लेकिन फिर से डेढ़ वर्ष होने के बाद भी परीक्षाएं नहीं कराई जा रही हैं। जिससे छात्रों का भविष्य में डॉक्टर बनने का अधर में लटका है। मेडिकल छात्रों द्वारा कॉलेज प्रबंधन से जानकारी मांगने पर टाल देते हैं। वहीं 2014 के बैच में एडमिशन लेने वाले छात्रों प्रथम सेमिस्टर की परीक्षा समय से आयोजित करा दी गई। 


ये हैं 2013 के बैच के छात्र-छात्राएं 
बीएचएमएस की पढ़ाई कर रहे हरिओम असाटी, हिमांशु सिंह गौर, शिवम गुप्ता, अमित तिवारी, राकेश श्रीवास, शिवांगी सोनी, ऋतंभरा गौतम, शिरीन खान, नेहा पांडे, प्रियांश त्रिवेदी, सृष्टी कुशवाहा, रितू सिंह, अमित तिवारी, रामजी गुप्ता, वेदप्रकाश विश्वकर्मा व सत्यम पाठक सहित 20 छात्र-छात्रओं की परीक्षा नहीं कराई गई। छात्रों ने बताया कि प्रथम सेमेस्टर में उनके साथ पचास छात्रों में प्रवेश लिया था लेकिन कुछ छात्रों के परीक्षा में उत्तीर्ण न होने व बीच में पढ़ाई छोड़ेने से अब द्वितीय सेमेस्टर में बीस छात्र ही बचे हैं।

छात्रों ने की शिकायत 
निश्चित समय पर परीक्षा न होने से छात्रों का समय बर्बाद हा रहा है। साथ ही कॉलेज प्रबंधन द्वारा सही जानकारी न देने से परेशान छात्रों ने हरि सिंह गौर विश्वविद्यालय के कुलपति व स्वास्थ्य मंत्री को एक आवेदन भेजकर अपनी परेशानी बताई। भेजे गए आवेदन में छात्रों ने कहा कि कॉलेज प्रबंधन व विश्वद्यालय द्वारा निश्चित समय परीक्षा न कराकर छात्रों के    भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। जिससे छात्रों समय बर्बाद हो रहा है। छात्रों ने आवेदन में जल्द परीक्षाऐं आयोजित कराने की मांग की है।

फैक्ट फाइल
प्रथम सेमिस्टर डेढ़ वर्ष 
दूसरा, तीसरा व चौथे सेमिस्टर की परीक्षाएं एक वर्ष आयोजित कराने का है नियम
सितंबर 2013 के बैच में एडमिशन लिया
फरवरी 2015 में होना थी प्रथम सेमिस्टर के परीक्षाएंं
एक वर्ष बाद फरवरी 16 में कराई गई प्रथम सेमिस्टर की परीक्षा
फरवरी 2017 में होनी थी द्वितीय सेमिस्टर की परीक्षाएं लेकिल अभी तक नहीं हुईं
कॉलेज प्राचार्यसे बात करने पर हर बार एक ही बात कही जाती है अभी तक डेट नहीं आई।

हमारे यहां से सभी छात्रों के फार्म यूनिवर्सिटी भेज दिए गए हैं। जैसे ही वहां से परीक्षा कराने की तारीख आएगी तो परीखाएं शुरू करा दी जाएंगी।  छात्रों को परेशान नहीं होने दिया जाएगा।
आरके खरे,  प्राचार्य स्वामी प्रणवानंद होम्योपैथिक कॉलेज

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned