बारिश में इस गांव से आना जाना हो जाता है बंद

sanjay daldale

Publish: May, 20 2017 12:49:00 (IST)

Chhindwara, Madhya Pradesh, India
बारिश में इस गांव से आना जाना हो जाता है बंद

आज भी जाम नदी पार करके  आना पड़ता है। बारिश के दिनों में तो इस नदी में बाढ़ आ जाती है।

पांढुर्ना. ग्राम पंचायत परसोड़ी के लहरा और खेड़ीधानभोयर के ग्रामीणों को शहर आने के लिए आज भी जाम नदी पार करके  आना पड़ता है। बारिश के दिनों में तो इस नदी में बाढ़ आ जाती है। जिससे गांव में न तो सरकारी स्कूल खुल पाते है और न ही ग्रामीण अनाज, दवा लेने पांढुर्ना शहर आ पाते है। जाम नदी पर पुलिया बनाने की मांग पिछले लंबे समय से  ग्रामीण कर रहे है परंतु प्रशासन को इस समस्या को दूर करने में कोई दिलचस्पी दिखाई नहीं दे रहे है। आज भी ग्रामीणों की समस्या जस की तस है।
अपनी इस समस्या का निराकरण करने के लिए एक बार फिर ग्रामीण भाजपा के अनुसूचित जनजाति मोर्चा के सदस्य दुर्गेश उइके के साथ अनुविभागीय अधिकारी को ज्ञापन सौंपने पहुंचे थे। ग्रामीण खुशाल वरटे, मंदा उइके, भिकुलाल उइके, जैनों वरकड़े, कलाबाई बरकड़े, राधा उइके, चन्द्रकला नर्रे, सरिता भलावी, रंजना नर्रे, सुरेखा कवड़ेती, कुंती उइके आदि महिलाओं ने बताया कि पुलिया निर्माण नहीं होने के कारण दो  बच्चों की नदी में बहकर मौत भी हो चुकी है। दो साल पहले ग्रामीणों द्वारा किए गए आंदोलन के बाद प्रशासन की नींद टूटी थी। जिसके बाद यहां पर पुलिया निर्माण को स्वीकृति भी प्राप्त हुई है लेकिन आज काम शुरू किया और न ही किसी अधिकारी ने ग्रामिणों की इस समस्या पर रूचि दिखाई। 

ग्रामीणों की समस्या को सुनकर एसडीएम डीएन सिंह ने संबंधित विभाग को तलब करने की बात कही है। ज्ञापन सौंपते समय दुर्गेश उइके ने एसडीएम को बताया कि प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना से जाम नदी के दोनों ओर 3 किमी डामर रोड और पुलिया निर्माण की स्वीकृति प्राप्त है लेकिन विभागीय जिम्मेदार कोई कार्य नहीं कर रहे है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned