सावधान : फैल रहा डायरिया

Chhindwara, Madhya Pradesh, India
सावधान : फैल रहा डायरिया

सुबह से चार मरीज यहां भर्ती हुए जबकि एक पुराने मरीज की हालत में  सुधार नहीं

छिंदवाड़ा.पांढुर्ना. सोमवार को भी ग्राम मोरगोंदी से दस्त के मरीज इलाज कराने पांढुर्ना सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचे। लेकिन दोपहर 1 बजे के बाद इन मरीजों का इलाज करने लिए यहां कोई उपस्थित नहीं था। स्टॉफ  नर्स ही मरीजों को  सलाइन लगाकर दवा दे रही थी। सुबह से चार मरीज यहां भर्ती हुए जबकि एक पुराने मरीज की हालत में  सुधार नहीं हो पा रहा है। 
सोमवार को सुबह से रितु संजय नारनवरे 25 वर्ष, गुलशन पिता विजय नारनवरे 14 वर्ष, पीयूष अरिवंद सलामे डेढ़ वर्ष, सुनंदा दिनेश शेंडे 35 साल उपचार करने पहुंचे थे। एक दिन पहले ही कलेक्टर जेके जैन ने सिविल अस्पताल का निरीक्षण कर मरीजों की बेहतर देखभाल करने के लिए आदेश दिए थे। परंतु उनके आदेश दूसरे दिन ही हवा होते नजर आए। रविवार से भर्ती सुरेन्द्र महादेव शेंडे 23 वर्ष को उपचार के बाद भी आराम नहीं मिला है।

दिखावे के लिए पौधरोपण
  कलेक्टर जे के जैन के जाने के बाद सीएमओ राजकुमार इवनाती ने सिविल अस्पताल के गंदगी वाले स्थान पर गड्ढा कराया। यहां पर चिकित्सकों ने मिलकर पौधरोपण किया गया। दूसरे दिन इस स्थान की हालत फिर जस के तस हो गए। यह देखकर मरीजों के परिजन कह रहे थे कि दिखावे के लिए पौधरोपण किया गया।  

एसडीएम का पद रिक्त रहने से प्रशासन निष्क्रिय 
पहले आईएएस मयंक अग्रवाल एसडीएम पद पर थे। उनके  कार्यकाल में वे हर बुधवार को गांवों का निरीक्षण कर सरकारी अस्पतालों और आंगनबाड़ी में निरीक्षण कर जरूरी निर्देश देते थे। परंतु उनके स्थानांतरण के बाद एसडीएम का पद लंबे समय से रिक्त होने के कारण गांवों में सरकारी योजनाएं फिर से दम तोडऩे लगी है। विभागों के अधिकारी मुख्यालय से सारा काम निपटा रहे है जबकि गांव के अंतिम छोर के व्यक्ति तक योजना का लाभ नहीं पहुंच पा रहा है। मोरगोंदी के मरीजों ने बताया कि प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में उपचार की दवाएं नहीं हैं। गांव में बढ़ती मरीजों की संख्या पर यह बड़ा सवाल है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned